Jan Sandesh Online hindi news website

अभ्युदय योजना का किया गया शुभारंभ

0
और पढ़ें
1 of 152
उन्नाव ।
 मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश द्वारा आज दिनांक 15 फरवरी 2021 को प्रदेश में मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना लागू कर दी गई है ।जनपद के कलेक्ट्रेट में स्थित एनआईसी कक्ष में जिला अधिकारी  रवीन्द्र कुमार द्वारा जनपद के मेधावी छात्र-छात्राओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उपस्थित रहे। साथ में  सिटी मजिस्ट्रेट  चंदन कुमार पटेल,  अजीत कुमार निगम बेसिक शिक्षा विभाग,  परमात्मा शरण, जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय एवं  सर्वेश कुमार अधीक्षक जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय से उपस्थित रहे। इस योजना अंतर्गत जिलाधिकारी द्वारा छात्र-छात्राओं को बताया गया कि ऑनलाइन पंजीकरण प्रारंभ हो गया है। इच्छुक अभ्यर्थी योजना की आधिकारिक वेबसाइट http://abhyuday.up.gov.in पर पंजीकरण कराना होगा।  मंडल स्तर पर  दिनांक 16 फरवरी  2021 से यह कोचिंग प्रारंभ हो जाएगी । मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे सिविल सेवा परीक्षा पीसीएस,जे ई ई, नीट , एन डी ए, सी डी एस ,पी ओ ,एम एस सी ,बी एड ,टी ई टी तथा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थी जो किसी भी वर्ग के हो,निशुल्क कोचिंग सुविधा मंडल स्तर पर उपलब्ध कराई जाएगी। अभ्यर्थियों को सहजता के साथ गुणवत्ता पूर्ण स्टडी मटेरियल मिल सके, इसके लिए राज्य स्तर पर ई लर्निंग कंटेंट प्लेटफार्म बनाया गया है। इस प्लेटफार्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा परीक्षा की तैयारी से संबंधित टिप्स सामग्री , पुस्तकों आदि से संबंधी मार्गदर्शन देते हुए वीडियो अपलोड होगा तथा लाइव सेशन एवं सेमिनार भी होंगे। ई लर्निंग प्लेटफार्म पर छात्र अपनी जिज्ञासा एवं प्रश्न भी सबमिट कर सकेंगे। यहां विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित विषय वस्तु सामग्री एवं क्यूरेटिव कंटेंट उपलब्ध होगा जिसके लिए ख्याति प्राप्त संस्थाओं की सामग्री इकट्ठा की जा रही है। पंजीकृत अभ्यर्थियों को ई लर्निंग प्लेटफार्म पर सवाल पूछने का भी मौका होगा जिसका विशेषज्ञ समुचित निराकरण करेंगे।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.