Jan Sandesh Online hindi news website

खेल में एक साल बाद प्रदेश का नाम रोशन करने का दोहरा मौका,पदक और ट्राफी लाने की बंधी उम्‍मीद

0

रुद्रपुर। कोरोना के चलते करीब एक साल बाद फिर से प्रदेश का नाम रोशन करने का खिलाड़ियों के पास दोहरा मौका है। लंबे समय से घर पर अभ्यास के बाद अपनी प्रतिभा राष्ट्रीय स्तर पर दिखाऐंगे। सब जूनियर टीम रवाना हो गई है, जबकि सीनियर खिलाड़ियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। खिलाड़ी इस सुनहरे मौके को अपने नाम करने के लिए दंभ भर रहे हैं।

साल भर लगातार राज्य स्तरीय, राष्ट्रीय स्तर एवं जिले स्तर पर सामान्य दिनों में कई प्रतियोगिताएं हुई। जिसमें विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों ने प्रदेश में अपना एवं जिले का नाम रोशन किया है। इसमें वालीबाल, बाक्सिंग, हाकी, हैंडबाल, कबड्डी, खो-खो सहित कई गेम हैं, जिसमें पिछले वर्ष उत्तराखंड की टीम ने लोहा मनवाया था। मार्च, 2020 से कोरोना संक्रमण फैलने से खेल पर रोक लगा दी गई। ऐसे में खिलाड़ियों ने स्वयं से अभ्यास किया। घर पर रहकर कोच के निर्देशन में खूब पसीना बहाया। खेलों को अनुमति मिलने के बाद खिलाड़ियों में नया जोश दिख रहा है।

तमिलानाडु एवं उड़ीसा में राष्ट्रीय वालीबाल चैंपियनशिप के लिए एसोसिएशन ने वालीबाल के नगीने तराशे हैं। खिलाड़ी भी प्रदेश का नाम रोशन करने के लिए दंभ भर रहे हैं। शिविर में राष्ट्रीय खेल से संबंधित नियम एवं टिप्स कोच से ले रहे हैं। वेल्लूर, तमिलनाडु में 24 फरवरी से होने वाली नेशनल चैंपियनशिप के लिए सब जूनियर बालक एवं बालिका की टीम को प्रशिक्षण देकर रवाना किया गया है। सीनियर महिला एंव पुरूष की टीम का 24 फरवरी से दो मार्च तक शिविर लगाकर ट्रैंड किया जा रहा है।

सीनियर टीम में इन खिलाड़ियों का हुआ है चयन 

और पढ़ें
1 of 570

अभिनव पंवार, विक्रांत, रजत, जसविंदर, उत्कर्ष, हेमराज, ऋषभ बिश्नोई, अक्षय कुमार, हर्षित चतुर्वेदी, अंकित, सागर मलिक, सौरभ नौटियाल एवं स्टैंड बाई में अमित कुमार, गौरव गुप्ता व अजीम खान। सीनियर गर्ल्स टीम में गीता रावत, प्रियांशी, मीनाक्षी, कीर्ति थापा, नेहा बिष्ट, प्रेरणा तिवारी, रश्मि वर्मा, शीतल, सपना रावत, हेमा, तृप्ति मंडल, तनुजा गुसाईं, स्टैंड बाई मे कविता बिष्ट, श्वेता चौहान एवं निकिता पेनवाल को शामिल किया गया है।

ये हैं सब जूनियर टीम 

अर्पित, हर्ष, विशु राठी, आर्यन, प्रियांशु सिंह, विधान कुमार, विवेक पोखरियाल, दिव्य पांडे, विनय गोस्वामी, अमित रावत, मंजीत सिंह, यश मेहता, स्टैंड बाई में हरिओम, राजेंद्र प्रताप, सक्षम पवार, हिमांशु कुमार, रोहित कोरंगा। महिला वर्ग टीम में कोमल चौहान, शक्ति जोशी, खुशी दुबे, डाली जोशी, ममता पांडे, इवाश्री सक्सेना, मानसी कोरंगा, शोभा बसेरा, साक्षी अरोरा, नैंसी रस्तोगी, महक राय, निशा गुप्ता, स्टैंड बाई में गुंजन राजभर, जेसिका, कनिका राय।

इन जनपदों के हैं खिलाड़ी

देहराूदन, हरिद्वार, चमोली, ऊधम सिंह नगर, पौड़ी, टिहरी, चंपावत, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, पिथौरागढ़।

अध्यक्ष उत्तराखंड वालीबाल एसोसिएशन एवं महासचिव उत्तराखंड ओलंपिक संघ डा. डीके सिंह ने बताया कि लंबे समय से घर में बैठे खिलाड़ियों में उतावलापन खेल को लेकर दिखा। खिलाड़ियों के फिटनेस में कोई कमी नहीं आई है। उत्तराखंड की टीम बनाने के लिए पांच बार ट्रायल कराए गए। सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन बेहतरीन थे, चयन करना मुश्किल हो रहा था। निश्चित रूप से उत्तराखंड की टीम मेडल एवं ट्राफी लेकर लौटेगी।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.