Jan Sandesh Online hindi news website

सूरजनगर से निकाली गई विशाल कलश यात्रा,नशा से दूर व स्वच्छता पर ध्यान देने का दी संदेश

0

गोल्डेन कुशवाहा

और पढ़ें
1 of 807

पडरौना,कुशीनगर। गायत्री शक्तिपीठ के तत्वावधान में संगीतमयी प्रज्ञा पुराण कथा व पंच कुंडीय गायत्री महायज्ञ व गायत्री माता का प्राण प्रतिष्ठा शुभारंभ से पहले सुबह विशाल कलश यात्रा निकाली गई। इसमें पीत वस्त्रधारी सौभाग्यवती महिलाएं व कुंवारी कन्याएँ सिर पर कलश रख भजन गाते चल रही थीं। इसके साथ ही पांच दिवसीय कार्यक्रम का शुभारंभ हो गया।

मंगलवार सुबह करीब नौ बजे नवनिर्मित गायत्री मंदिर सूरजनगर से कलश यात्रा निकाली गई। इसका शुभारंभ कार्यक्रम आयोजक गोरखनाथ मिश्र, पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि गोल्डी जायसवाल ने दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया। कलश यात्रा में आगे बैंडबाजों पर भजनों की धुनों के साथ साधक चल रहे थे। इसके बाद 501 कुंवारी कन्याएं व सौभाग्यवती महिलाएं कलश लिए भजन गाती चल रही थीं। इसमें शामिल रथ पर गायत्री स्वरूप सरस्वती,लक्ष्मी,पार्वती के चित्र चल रहे थे। इस दौरान कार्यकर्ता नशा से दूर रहने व स्वच्छता पर ध्यान देने का संदेश भी दे रहे थे।

कलश यात्रा प्राचीन कोट स्थान खजुरिया,रामजानकी मंदिर पिपरा,काली मंदिर खजुरिया, विश्वकर्मा मंदिर पुरंदर छपरा,शिव शक्ति मंदिर गोमतीनगर होते हुए सूरजनगर कार्यक्रम पंडाल मे पहुंचकर समाप्त हो गई। कार्यक्रम आयोजक गोरखनाथ मिश्र ने बताया 5 दिवसीय कार्यक्रम का समापन 27 फरवरी को होगा।कार्यक्रम में प्रतिदिन सुबह सात बजे से साढ़े सात बजे तक सामूहिक जप, ध्यान व योग व्यायाम, सुबह आठ से 11बजे तक गायत्री यज्ञ व संस्कार तथा दोपहर एक बजे से शाम चार बजे तक प्रज्ञा पुराण कथा व प्रवचन किए जाएंगे। इस दौरान जैकी शुक्ल,मिठाई शर्मा,मारकंडे गुप्ता,गोपी श्रीवास्तव,रविन्द्र चौबे,दिवाकर गुप्ता,संदीप कुशवाहा,सुनील कुशवाहा आदि मौजूद रहे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.