Jan Sandesh Online hindi news website

नेफेड द्वारा सभी सामग्रियों का वितरण पूरी पारदर्शिता से कराने एवं वितरण से सम्बन्धित अभिलेखों का उचित रख-रखाव किये जाने के निर्देश- जिलाधिकारी

0
उन्नाव ।
और पढ़ें
1 of 236
जिला पोषण समितिडिस्टिक्ट कन्वर्जेन्स प्लान (क्ब्च्) कमेटी जिला निगरानी समिति की बैठक  जिलाधिकारी  रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में आयोजित हुयी।
  जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा ड्राई राशन वितरण की नवीन व्यवस्था के सम्बन्ध में अवगत कराया गया कि माह फरवरी 2021 में लाभार्थियों को नेफेड के द्वारा चना दाल, एवं एडिबिल आयल की तथा पी0सी0डी0एफ0 द्वारा घी एवं स्किम्ड मिल्क पाउडर की आपूर्ति परियोजनाओं में की जा रही है।जिलाधिकारी द्वारा इन सभी सामग्रियों का वितरण पूरी पारदर्शिता से कराने एवं वितरण से सम्बन्धित अभिलेखों का उचित रख-रखाव किये जाने के निर्देश दिये गये। साथ ही बीघापुर ब्लाक में पाोषाहार उत्पादक इकाई में स्वयं सहायता समूहों के पास अवशेष रह गये गेहूॅ की आपूर्ति को लेकर जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं जिला उपायुक्त, एन0आर0एल0एम0 को निदेशालय से सम्पर्क कर अग्रेतर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।
यूनीसेफ प्रतिनिधि द्वारा आगामी माह की 02 तरीख को 0 से 05 वर्ष तक के बच्चों का वजन एवं दिनाॅंक 03 मार्च को चिन्हित किये गये कुपोषित बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कराये जाने एवं आवश्यकतानुसार बच्चों को जिंक आयरन, फोलिक एसिड एवं अन्य दवाओं की उपलब्धता के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। इस पर जिलाधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्साधिकारी को आगामी 02 एवं 03 मार्च को आयोजित होने वाले उक्त कार्यक्रम हेतु आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये गये। जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा गोद लिये गये कुपोषित गांव को लक्ष्य के अनुरूप सुपोषित श्रेणी में लाये जाने के भी निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये गये। अतिकुपोषित बच्चों के परिवारों को दुधारू गाय उपलब्ध कराये जाने की समीक्षा में पाया गया कि अभी तक मात्र 19 गाय उपलब्ध करायी गयी हैं इस पर जिलाधिकारी द्वारा असन्तोष जाहिर किया गया। उन्होंने मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को दो दिवस के भीतर विकास खण्डों में स्थित गौशालाओं जहाॅ-जहाॅ दुधारू गाय उपलब्ध हैं की सूची जिला कार्यक्रम अधिकारी को उपलब्ध कराने तथा समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारियों के माध्यम से आगामी सोमवार तक गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। मुख्य पशुचिकित्साधिकारी एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी को रूचि लेकर तथा समन्वय स्थापित करते हुये शासन की महत्वाकांक्षी योजना में सन्तोषजनक प्रगति लाये जाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये।
पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती बच्चों की स्थिति की समीक्षा में पाया गया कि पूरे माह में ओ0पी0डी0 के माध्यम से एक भी बच्चा भर्ती नहीं पाया गया जो भी बच्चे भर्ती हुये हैं वह आर0बी0एस0के0 टीम एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री के प्रयासों से भर्ती हुये हैं। जिलाधिकारी द्वारा इस सम्बन्ध में मुख्य चिकित्साधिकारी को आर0बी0एस0के0 टीम तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी को आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को ओ0पी0डी0 टीम के माध्यम से शत-प्रतिशत बच्चों की भर्ती का लक्ष्य पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिये।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला समन्वयक एन0आर0एल0एम0, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला पूर्ति अधिकारी, आदि जिला स्तरीय अधिकारी, यूनीसेफ प्रतिनिधि एवं विकास खण्ड स्तर के बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं प्रभारी उपस्थित रहे।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.