Jan Sandesh Online hindi news website

यूपी में खुले एक से पांचवीं तक के विद्यालय, कहीं गुब्बारे तो कहीं पुष्पवर्षा कर बच्चों का किया स्वागत

0

गोरखपुर: वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप के चलते सालभर से बंद प्राथमिक विद्यालयों को आज यानी 1 मार्च से प्रदेश भर में खोल दिया गया है. यूपी सरकार और शासन के निर्देश पर कोविड-19 के नियमों के पालने के साथ स्‍कूल को खोला गया है. वहीं, गोरखपुर जनपद के सभी 2700 स्‍कूलों को कोविड-19 नियमों के पालने के साथ खोलने के निर्देश पहले ही दे दिए गए. सोमवार को जब स्‍कूल खुले, तो स्‍कूल आने वाले बच्‍चों का तिलक लगाने के बाद पुष्‍पवर्षा कर स्‍वागत किया गया. स्‍कूल खुले, तो इसके साथ शिक्षकों और बच्‍चों के चेहरे भी खिल गए.

और पढ़ें
1 of 2,622

पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया

गोरखपुर के अलहदादपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय बनकटीचक पर सुबह से ही बच्‍चों का तिलक और पुष्‍प की थाल लिए प्रधानाध्‍यापिका मंजूरानी गुप्‍ता और सहायक अध्‍यापिका उर्मिला राय बच्‍चों का स्‍वागत कर रही हैं. इसी बीच गोरखपुर के बेसिक शिक्षा अधिकारी शिक्षिकाओं और कर्मचारियों के साथ बच्‍चों का उत्‍साहवर्धन करने के लिए सुबह 9 बजे विद्यालय पर पहुंच जाते हैं. वे बच्‍चों के ऊपर पुष्‍पवर्षा और तिलक लगाकर उनका स्‍वागत करते हैं. इस बीच बैंड की धुन भी सुनाई दे रही है. स्‍कूल के शिक्षिकाओं और कर्मचारियों के साथ बच्‍चों के लिए भी ये सुखद पल है.

संगम नगरी में बच्चों के रंग-बिरंगे गुब्बारे दिये गये

संगम नगरी प्रयागराज में भी आज करीब एक साल बाद पहली से पांचवी तक के स्कूल एक बार फिर से खुल गए हैं. प्रयागराज में आज पहले दिन बड़ी संख्या में बच्चे स्कूल पहुंचे. स्कूलों ने भी खास अंदाज में बच्चों का स्वागत व अभिनंदन किया और उनकी हौसला आफजाई करते हुए कोरोना के प्रति उनके डर को खत्म करने की कोशिश की. प्रयागराज में विद्या भारती द्वारा संचालित रानी रेवती देवी स्कूल में आज स्कूल खुलने पर बेहद खास इंतजाम किए गए थे. यहां स्कूल में दाखिल होते ही बच्चों को रंग बिरंगे गुब्बारे दिए गए थे. इसके साथ ही महिला टीचर्स बच्चों के माथे पर तिलक लगाकर उनका स्वागत कर रही थी तो साथ ही आरती के जरिए खास अंदाज में उनका अभिनंदन किया जा रहा था. स्कूल के टीचर्स ने बच्चों के स्वागत में एक खास गीत भी तैयार किया हुआ था. सुबह बच्चों की इंट्री के वक्त टीचर्स ने स्टूडेंट के साथ ही यह गीत गाकर खास अंदाज में समा बांधा.

आगरा में खुले प्राइमरी स्कूल

वहीं, आगरा में आज से एक से लेकर 5वीं तक के स्कूल खोल दिए गए हैं. ऐसे में आज सुबह-सुबह बच्चे स्कूल पहुंचे लेकिन आगरा के नगला धनी उच्च प्राथमिक विद्यालय का अलग ही माहौल नजर आया. यहां बच्चे तो स्कूल पहुंच गए थे लेकिन स्कूल में एक भी टीचर नजर नहीं आया. Covid प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ती देखी तो वहीं, मौके पर साफ सफाई करती हुई और मिड डे मील बनाने वाली सहायिकाएं ज़रूर अपनी ड्यूटी को अंजाम देती हुई नज़र आईं. स्कूल से प्रिंसिपल, असिस्टेंट टीचर और दोनों शिक्षा मित्र गायब नज़र आए. प्राइमरी स्कूल खुलने पर आगरा के नगला धनी उच्च प्राथमिक विद्यालय का क्या है माहौल, कोरोना काल के बाद आज करीब एक वर्ष बाद प्राइमरी स्कूल में कक्षाएं शुरू हुईं. यहां, सुबह जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उनका जोरदार स्वागत किया गया. टीचरों ने और उन्हें तिलक लगाकर क्लास में बैठाया. वहीं, बच्चे भी लगभग एक साल बाद स्कूल पहुंचने से काफी उत्साहित दिखे.

गेट पर किया गया सैनिटाइज

इसके अलावा मेरठ के कमला देवी सरस्वती शिशु मंदिर में बच्चे समय से पहुंचे, यहां पर कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों का तिलक लगाकर अभिनंदन भी किया जा रहा है. आने वाले सभी बच्चों को गेट पर पहले सैनिटाइज कराया जा रहा है. उसके बाद उनका नाम पता भी लिखा जा रहा है. जिससे किसी को कोई परेशानी होती है तो उसको तुरंत ही उपचार व्यवस्था कराई जा सके. स्कूल की प्रिंसिपल ने भी है कहा है कि अभिभावकों से बात हुई है अगर वह चाहते हैं तो अपने बच्चों को स्कूल भेज सकते हैं अन्यथा जो बच्चे स्कूल आना नहीं चाहते उनके लिए ऑनलाइन व्यवस्था चालू रहेगी.

उत्तर प्रदेश में तकरीबन साल भर बाद प्राथमिक स्कूल खोले जा रहे हैं. यहां सोमवार को बच्चों अलग-अलग तरीकों से स्वागत किया गया.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.