Jan Sandesh Online hindi news website

राजस्व परिषद अध्य्क्ष ने जिलाधिकारी कार्यालय, राजस्व अभिलेखागार, राजस्व कोर्ट न्यायालय का किया स्थलीय निरीक्षण

0
उन्नाव ।
और पढ़ें
1 of 236
 डा0 दीपक त्रिवेद्वी, आई0ए0एस0  अध्यक्ष, राजस्व परिषद उ0प्र0 का  जनपद भ्रमण कार्यक्रम के तहत  जिलाधिकारी कार्यालय, राजस्व अभिलेखागार, राजस्व कोर्ट न्यायालय का स्थलीय निरीक्षण किया। निर्वाचन कार्यालय का लोकापर्ण, जनपद उन्नाव कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित सभागार सौन्दर्यीकरण के पश्चात लोकापर्ण, तहसील सदर के कृषि एवं आवास पट्टा स्वीकृत प्रमाणपत्र विभिन्न लाभार्थियों को वितरण एवं तहसील में कार्यरत लेखपालों कर्मियों को प्रशस्तिपत्र एवं जनपद के राजस्व अधिकारियों के साथ राजस्व सम्बन्धी विभिन्न कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्ष, राजस्व परिषद उ0प्र0 ने पन्नालाल हाॅल में राजस्व अधिकारियों के साथ बैठक करते हुये निर्देश दिये कि सभी अधिकारी अपने मूल पद के दायित्वों का निर्वाहन के साथ राजस्व कार्यों को विशेष प्राथमिकता के साथ कार्य करें। जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने मा0 अध्यक्ष को बताया कि जनपद में वरासत अभियान को पूरी शिद्दत के साथ चलाया गया। जिसमें लगभग 22 हजार मामले निपटाये गये। स्वामित्व योजना प्रारूप पांच पर फीडिंग कराकर प्रदेश में उन्नाव प्रथम स्थान पर रहा है। मिशन शक्ति के तहत सभी तहसीलों में हेल्प डैस्क की व्यवस्था चल रही है। इंटी भुमाफिया के तहत अभूतपूर्व कार्य किया गया है। अतिक्रमण कर्ताओं से सरकारी भूमि वापस ली गयी है जो एक क्रान्तिकारी अभियान रहा है। अध्यक्ष, राजस्व परिषद उ0प्र0 उपस्थित अपर जिलाधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट समस्त उप जिलाधिकारी तहसीलदारों की सराहना करते हुये कहा कि जनपद  राजस्व के मामले में बहुत ही अच्छा कार्य किया है। सभी अधिकारी राजस्व परिषद द्वारा समय समय पर जारी किये गये संशोधित अधिनियमों से अवश्य अपडेट होते रहे। उन्हीं नियमों के अनुसार कार्य किया जाये। बदलते परिवेश में नियमों के अनुसार ही कार्य किया जाये। खसरा, खतौनियों को आनलाइन एवं पारिदर्शी तरीके से निर्धारित प्रारूप पर तैयार किया गया है जो सराहनीय है। इस अवसर पर वरासत अभियान में अच्छा कार्य करने वाले 06 महिला लेखपालों कर्मचारियों को प्रशस्तिपत्र एवं तहसील सदर के कृषि एवं आवास पट्टा स्वीकृत प्रमाणपत्र विभिन्न लाभार्थियों को वितरण मा0 अध्यक्ष द्वारा किया गया।  जिलाधिकारी  रवीन्द्र कुमार ने राजस्व परिषअध्यक्ष को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया तथा आश्वस्थ किया की जिला प्रशासन राजस्व एवं जन कल्याण कारी योजनाओं का अनुपालन शतप्रतिशत करेंगा। अध्यक्ष राजस्व परिषद उ0प्र0 ने  भम्रण कार्यक्रम के दौरान सर्व प्रथम कलेक्ट्रेट के विभिन्न पटलों का बारीकी से निरीक्षण करते हुये नाजिर से पेंशन प्रकरण रिकवरी, स्टाक रजिस्टर, सर्विस बुक आदि के बारे में कहा कि सम्बन्धित के जो भी देयक हो उन्हें समय से दिया जाये। अधिष्ठान सम्बन्धी समस्त कार्य नियमों के अनुसार ही किया जाये। स्टाॅक रजिस्टर का समय-समय पर वेरीफाई अवश्य कराया जाये। नाजिर द्वारा व्यवस्थित तरीके से किये जा रहे कार्यों से प्रशंसा व्यक्त की। आग्ल अभिलेख कक्ष में विभिन्न प्रकार के आने जाने वाली डाकों के क्रियान्वयन एवं 10 वर्ष की वैधता के तहत फाइलों एवं रजिस्टरों की वीड़िग कराये जाने के निर्देश दिये गये। कुछ अभिलेखों में कटिंग एवं ओवर राईटिंग पर अप्रसनता व्यक्त करते हुये कहा कि इस तरह का कार्य भविष्य में न किया जाये। संयुक्त कार्यालय में सर्विस बुक में दर्ज आवश्यक प्रविष्टियों, वेतन बिल के रख-रखाव एवं पंजिकाओं में पेजिंग का कार्य करने को कहा, न्यायसहायक से वादों के निस्तारण अभियोजन के पेंडिग मामले तथा 3/7 फाइलों से सम्बन्धित विषय के रजिस्टर अलग-अलग बनाये जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि पेपरलेस फाइलों का प्रचलन प्रभावी ढ़ग से किया जाये। मानव सम्पदा पोर्टल के तहत मुख्य राजस्व आकिंक को निर्देश दिये कि शासन के निर्देशों के तहत सभी अधिकारियों कर्मचारियों का सेवा विवरण तत्काल पूरा किया जाये। राजस्व वसूली शतप्रतिशत कराये जाने के निर्देश अपर जिलाधिकारी श्री राकेश सिंह को दिये गये। उन्होंने कहा कि मालगुजारी, सर्विस बुक, ग्रेडेसन लिस्ट को तत्काल पूरा किया जाये। राजस्व के मामले में राजस्व निरीक्षक भुलेख से विरासत प्रपत्र, कृषि, मत्स्य, कुम्हारी कला एवं आवास पट्टा अवंटन की प्रगति की हकीकत को परखा।
मा0 अध्यक्ष, राजस्व परिषद उ0प्र0 कलेक्ट्रेट में ही खनन के बारे में कहा कि खनन के पट्टों का आवंटन आनलाइन एवं पारदर्शी तरीके से किया जाये। जनपद स्तरीय दो राजस्व अभिलेखागारों का निरीक्षण के दौरान अभिलेखागार में रखे गये बस्तों, आवेदन रजिस्टर, चकबन्दी, भू अभिलेखों को विस्तार से चेक किया। जो सही दशा में होने पर सन्तोष व्यक्त करते हुये प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिये कि अभिलेखों को सुरक्षित रखने हेतु एक माह के अन्दर किटाणु एवं सीलन रोधक प्रक्रिया अपनायी जाये। अपर जिलाधिकारी न्यायिक  राकेश गुप्ता एवं नगर मजिस्ट्रेट  चंदन पटेल के न्यायालय में वादों के निस्तारण एवं प्रगति को देखा तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
निरीक्षण के दौरान प्रभारी अधिकारी संयुक्त कार्यालय  नन्हकू, प्रशासनिक अधिकारी  चन्द्रशेखर शुक्ला, समस्त उप जिलाधिकारी तहसीलदार सहित सी0आर0ए0  कमर अफताफ, राजस्व निरीक्षक भू लेख  देशराज भारतीय, नाजिर कलेक्ट्रेट  रजनीश श्रीवास्तव सहित राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी आदि उपस्थित थे।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.