Jan Sandesh Online hindi news website

नैनीताल में शुरू हो गई पर्यटन सीजन की तैयारी, कराई जा रही है नौकाओं की मरम्‍मत

0

नैनीताल : नैनीताल में 15 अप्रैल से शुरू होने वाले पर्यटन सीजन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। कोरोना काल में पर्यटन कारोबार चौपट हो गया था, जो अब रफ्तार पकड़ने लगा है। इस सीजन से पर्यटन कारोबारियों को काफी उम्मीदें हैं। नौका चालक नौकाओं की मरम्मत में जोरशोर से जुटे हैं। तुन, शीशम की लकड़ी को बदल कर नौका को खतरे से मुक्त किया जा रहा है, जबकि मुंम्बई से मंगाई गई तांबे की कील से उसे जोड़ा जा रहा है।

और पढ़ें
1 of 259

झील किनारे आजकल चप्पू नौकाओं की मरम्मत का काम जोरशोर से चल रहा है। नौका में में पानी ना घुसे इसका पूरा जतन हो रहा है। तीन दशक से नौका मरम्मत के काम में हुनरमंद राजेन्द्र प्रसाद के अनुसार शीशम व तुन की फट्टियों को तांबे की कील से जोड़ा जाता है। तांबे की कील मुंबई से मंगाई जाती है। जिनका मूल्य 1500 रुपये प्रति किलो है। चीड़ की पतवार बनाई जाती है। अलसी का तेल लगाया जाता है। जो ढाई सौ रुपये लीटर है। मरम्मत में दो व नई नौका में छह लीटर लगता है।

इसके अलावा साल की राल व वानीश लगाया जाता है। राजेंद्र बताते हैं कि नाव की मरम्मत में 50-60 हजार जबकी नई नाव बनाने में करीब डेढ़ लाख खर्च आता है। नैनीताल में 222 नौकाओं में 90 पैडल, दस यॉट हैं। जबकि शेष चप्पू नौकाएं हैं। कृष्णा पुर निवासी नौका चालक जीवन चन्द्र के अनुसार नैनीताल में नौकायन हमेशा सुरक्षित होता रहा रहा। नौका चालक प्रशिक्षित हैं।

ये हैं नौका स्टेशन

तल्लीताल, माल रोड पम्प हाउस, लाइब्रेरी, अलका होटल के पास, मल्लीताल बोट स्टैंड, नयना देवी मंदिर के समीप। पैडल बोट स्टैंड कैपिटल सिनेमा के पास है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.