Jan Sandesh Online hindi news website

ईज ऑफ लिविंग केवल जीवन की सुगमता का आधार नहीं, बल्कि प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने का भी आधार बना

0

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ईज ऑफ लिविंग केवल जीवन की सुगमता का आधार नहीं है, बल्कि प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने का भी आधार बना है। लोगों को आवास विद्युत कनेक्शन, राशन पोर्टेबिलिटी की सुविधा, आयुष्मान भारत योजना का लाभ देने का कार्य किया गया है। प्रधानमंत्री जी ने लक्ष्य तय किया है कि वर्ष 2022 तक गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वालों को छत मुहैया कराया जाएगा। 04 वर्ष में 40 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराया गया है। 01 करोड़ 38 लाख लोगों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिये गये हैं। हर गांव की कनेक्टिविटी को बेहतर बनाया गया है। इण्टरस्टेट कनेक्टिविटी को सुदृढ़ किया गया है।

और पढ़ें
1 of 2,372

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इन्सेफेलाइटिस से गोरखपुर और बस्ती जनपद के साथ-साथ 38 जनपदों में बड़े पैमाने पर मौतें हो रही थीं। प्रदेश सरकार ने इसके लिए बेहतर कार्यक्रम प्रारम्भ किया, जिससे 95 प्रतिशत मौतों को रोकने में सफलता प्राप्त की। उन्होंने कहा कि इस बीमारी को रोकने में स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत हर घर शौचालय उपलब्ध कराये गये। इन्हें इज्जत घर का नाम दिया गया, जो महिलाओं की गरिमा की रक्षा के साथ-साथ एक गरीब के स्वास्थ्य को भी आरोग्यता प्रदान करने का आधार बना। प्रदेश में ग्राम पंचायत स्तर पर बीसी सखी की नियुक्ति की प्रक्रिया अन्तिम चरण में है। अब गांव के व्यक्ति को पैसा निकालने व जमा करने के लिए गांव से दूर बैंक में नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2021-22 का बजट ईज ऑफ लिविंग का आधार है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.