Jan Sandesh Online hindi news website

ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,615 लोगों ने तथा अब तक कुल 5,33,418 लोगांे ने चिकित्सीय परामर्श लिया

0

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है। प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर प्रत्येक परिवार तक पहंुच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। सर्विलांस अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 18.46 करोड़ लोगों तक सरकारी मशीनरी ने पहुंचकर हालचाल जाना गया है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर कोविड 19 के संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु अस्पतालों में समुचित इलाज व्यवस्था के साथ-साथ एग्रेसिव टेस्टिंग, काॅन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग, सर्विलांस का कार्य करने से प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिल रही है। उन्हांेने बताया कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के केस कम होने पर भी टेस्टिंग प्रतिदिन 01 लाख से अधिक की जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश  में कोविड टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है।
श्री सहगल ने बताया कि संक्रमण कम होने से आर्थिक एवं औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं। प्रदेश की आय में वृद्धि हुयी है। प्रदेश का निर्यात कोरोना के बावजूद भी पिछले स्तर से इस वित्तीय वर्ष मे लगभग बराबर रहा है। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या को दूर करने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.39 लाख इकाइयों को 12,045 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं। बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 8.69 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 31,076 करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। इस प्रकार नयी एवं पुरानी एमएसएमई इकाइयों को लगभग 43 हजार करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि नयी एवं पुरानी एमएसएमई इकाइयों के अतिरिक्त एमएसएमई इकाइयों को मिलाकर इस वित्तीय वर्ष में एमएसएमई इकाइयों लगभग 61 हजार करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। इन एमएसएमई इकाइयों के माध्यम से लगभग 30 लाख से अधिक लोगांे को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये हैं। युवाओं के लिए प्रदेश में मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार युवाओं को सरकारी नौकरी, रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने की मुहिम चला रही है। उन्होंने बताया कि सभी आयोगों, विभागों, निगमों, परिषदों की पारदर्शी ढंग से रिक्तियांे को भरने के लिए प्रक्रिया की जा रही है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। जिसके क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा 01 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक धान खरीद कर इस वर्ष 66.83 लाख मी0 टन का रिकार्ड धान खरीद की गयी, जोकि अब तक की प्रदेश में सर्वाधिक धान खरीद है। प्रदेश सरकार द्वारा 01 अप्रैल, 2021 से सम्पूर्ण प्रदेश में गेहूॅ की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रूपये प्रति कुन्तल पर की जायेगी। पंजीकरण 01 मार्च, 2021 से प्रारम्भ हो गया है। किसान अपना पंजीकरण खाद्य एवं रसद विभाग, उत्तर प्रदेश की वेबसाइट बिेण्नचण्हवअण्पद पर साइबर कैफे, जनसुविधा केन्द्र या स्वयं कर सकते है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने हेतु 6000 क्रय केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,18,545 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 3,17,49,776 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 119 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 2029 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 671 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,615 लोगों ने तथा अब तक कुल 5,33,418 लोगांे ने चिकित्सीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 114 तथा अब तक कुल 5,93,149 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,85,810 क्षेत्रों में 5,12,137 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,91,235 घरों के 15,29,06,769 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का वैक्सीनेशन चल रहा है। 45 से 60 वर्ष की आयु वाले लोग जो पहले से चिन्हित बीमारियों से ग्रसित है उनका भी वैक्सीनेशन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 2300 केन्द्रों में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य चल रहा है जिसे शीघ्र ही में 4000 से अधिक किया जायेगा। सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ आयुष्मान भारत से अथवा सी0जी0एच0एस0 के अन्तर्गत सूचीबद्ध है, निजी चिकित्सालयों में भी वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में पहचान पत्र लेकर अपना कोविड वैक्सीनेशन कराया जा सकता है। सरकार द्वारा प्राइवेट चिकित्सालयों में रूपये 250 प्रत्येक डोज नियत की गयी है। 250 रूपये से अधिक पैसे  मांगे जाते है तो जिले के सी0एम0ओ0 को सूचित करे। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालांे में कोई भी व्यक्ति पहुंचकर अपना निशुल्क वैक्सीनेशन करा सकता है।
अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि टीकाकरण के लिए निर्धारित वेबसाइट पर जाकर अपना स्लाॅट बुक करा सकते है। केन्द्र पर सीधे आने वालो की स्लाॅट की उपलब्धता के आधार पर टीकाकरण किया जायेगा। प्रत्येक शहरी क्षेत्रों के अस्पताल में 60 प्रतिशत पंजीकरण वेबसाइट के माध्यम से तथा 40 प्रतिशत स्वयं केन्द्र पर आकर पंजीकरण कराने की व्यवस्था की गयी है। प्रत्येक ग्रामीण क्षेत्रों के अस्पताल में 50 प्रतिशत पंजीकरण वेबसाइट के माध्यम से तथा 50 प्रतिशत पंजीकरण जो स्वयं आकर पंजीकरण करायेगे। उन्होंने बताया कि जिला अस्पतालों में तथा मेडिकल काॅलेजों में सोमवार से शनिवार तक तथा सी0एच0सी0, पी0एस0सी0 केन्द्रों पर सोमवार, गुरूवार और शुक्रवार को कोविड वैक्सीनेशन किया जायेगा। जबकि निजी चिकित्सालयों में सप्ताह के चार दिवस कोविड वैक्सीनेशन किया जायेगा।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में संक्रमण काफी निचले स्तर पर चल रहा है। कोरोना संक्रमण का पाॅजिटिविटी रेट 0.1 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में संक्रमण कम हो रहा है लेकिन संक्रमण पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।

और पढ़ें
1 of 2,337
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.