Jan Sandesh Online hindi news website

एक लाख ठगे, देहरादून में ऐसे लिया था झांसे में, सैन्यकर्मी बन महिला ट्रेवल एजेंट से

0

देहरादून। एक शातिर ने खुद को सैन्यकर्मी बताकर कार बुक करवाने के नाम पर महिला ट्रेवल एजेंट से एक लाख रुपये ठग लिए। महिला की शिकायत पर नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार, शक्ति कॉलोनी न्यू कैंट रोड निवासी सोनिका ट्रेवल एजेंट हैं। बीती 12 जनवरी को उन्हें एक शख्स का फोन आया। उसने खुद को सैन्यकर्मी बताया और कहा कि परिवार समेत देहरादून घूमने के लिए आ रहा है, इसलिए कार बुक करवानी है। शातिर ने किराये का भुगतान ऑनलाइन करने की बात कही। इसके बाद उसने महिला को एक क्यूआर कोड भेजा। जिसे स्कैन करने के कुछ देर बाद महिला के बैंक खाते से एक लाख रुपये कट गए।

और पढ़ें
1 of 259

खाते को यूपीआइ से जोड़ने के नाम पर लगाई 1.41 लाख की चपत

बैंक खाते को यूपीआइ से जोड़ने के लिए मदद मांगना एक किशोर को भारी पड़ गया। ठग ने उसके बैंक खाते से एक लाख 41 हजार रुपये उड़ा दिए। नेशविला रोड निवासी एक व्यक्ति ने बताया कि उनके बेटे का पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में खाता है। उसने इस खाते को यूपीआइ से जोड़ने के लिए 11 फरवरी को इंटरनेट के माध्यम से पीएनबी की कस्टमर केयर सर्विस का नंबर ढूंढा। इस नंबर पर किशोर ने फोन किया तो जिस शख्स से उसकी बात हुई, उसने बैंक खाते की पूरी जानकारी हासिल कर 15 मिनट के लिए मोबाइल बंद करने को कहा। किशोर ने ऐसा ही किया। मोबाइल ऑन करने पर बैंक खाते से रुपये निकाले जाने के संदेश देखकर उसके होश उड़ गए। इस मामले में नगर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने के चक्कर में गंवाए सात लाख

मोबाइल नंबर चालू रखने के लिए उसे आधार से लिंक करने की बात कह साइबर ठग ने युवक के बैंक खाते से सात लाख नौ हजार रुपये निकाल लिए। साइबर थाने में दर्ज कराई गई शिकायत में पीड़ित ने बताया, उसके मोबाइल पर एक संदेश आया था कि आधार से लिंक नहीं होने के कारण आपका नंबर 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ने के लिए संदेश में एक नंबर भी दिया गया। पीड़ित ने उस नंबर पर फोन किया तो संबंधित ने बैंक खाते की जानकारी मांगी। खाते की जानकारी देते ही उसने रुपये निकाल लिए।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.