Jan Sandesh Online hindi news website

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु शासन के अथक प्रयास सार्थक हो रहे

0

कन्नौज – महिलाएं आदि काल से सशक्त हैं, आवश्यकता है जागरूक व आत्मनिर्भर बनने की। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु शासन के अथक प्रयास सार्थक हो रहे हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ जन जन तक पहुंचे और हर घर शिक्षा व पानी हमारा लक्ष्य।
उक्त उद्गार आज मा0 मंत्री पंचायतीराज विभाग उ0प्र0 भूपेंद्र सिंह चौधरी जी द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम के दौरान उपस्थित महिलाओं व जनता के संबोधन में व्यक्त किये। उन्होंने कार्यक्रम का उदघाट्न फीता काट कर एवं दीप प्रज्वलित करने के उपरांत कार्यक्रम में एल0ई0डी0 के माध्यम से पंडाल में उपस्थित सभी जनता द्वारा लखनऊ के इन्द्रगाँधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम का सजीव प्रसारण देखा गया। सजीव प्रसारण के उपरांत बच्चों द्वारा स्वागत गीत व सांस्कृतिक कार्यक्रम किया गया एवं कानपुर से आयी मंडली द्वारा महिला सशक्तिकरण पर एक नुक्कड़ नाटक कर जनता को महिला स्वाबलंभन हेतु जागरूक किया।
मा0 मंत्री जी ने कहा कि लंबे समय तक हमारी बहनें सामाजिक कुरीतियों का शिकार होती चली आईं हैं, जिसको समाज से दूर हटाने का कार्य केंद्र और राज्य की सरकार अपनी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि इस दौर में कोई क्षेत्र ऐसा नहीं है, जिसमें हमारी बहनें आगे बढ़ कर भागेदारी नहीं कर रहीं हों, वर्तमान सरकार ने समस्त विभागों में संचालित योजनाओं में महिलाओं को वरीयता दी है एवं सभी की कार्य दक्षता को बढ़ाने में सभी को प्रशिक्षित किया है। उन्होंने कहा कि हम सभी को समाज में हो रहे परिवर्तन के अनुसार अपने आप को बदलना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि यह निश्चित ही है कि वही परिवार आगे बढ़ता है, जिस परिवार की महिला शिक्षित होती है, इसलिए हमें अपनी बेटियों को भी आगे बढ़ने का पूरा अवसर देना चाहिए।
कार्यक्रम में मा0 विधायक छिबरामऊ अर्चना पांडेय जी द्वारा भी महिला सशक्तिकरण के उदाहरण देते हुए कहा कि आदि काल से महिलाएं सशक्त हैं, और सभी महिलाओं हेतु एक ही दिन अनिवार्य नहीं होना चाहिए, महिलाओं का योगदान माता, बहन, पत्नी आदि के रूप में समाज के हर वर्ग में प्रतिदिन निहित है, इसलिए हमें महिलाओं का सम्मान हमेशा बना कर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि महिलाएं आज पुरुषों से कम नहीं बल्कि उसके एक कदम आगे ही हैं, आवश्यकता है उन्हें जागरूक व आत्मनिर्भर बनने हेतु प्रेरित किये जाने की। इस अवसर पर मा0 विधयक तिर्वा कैलाश राजपूत द्वारा भी महिला सशक्तिकरण में अपने विचार व्यक्त किये गए।
इस दौरान जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हम सभी संकल्प लें कि हम अपने घर, समाज, परिवार, देश में महिलाओं को पूर्ण सम्मान देंगे एवं उन्हें सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ने हेतु अपना सहयोग देंगे, और इसी में ही हमारा और हमारे समाज का सम्मान है। कार्यक्रम में महिला सशक्तिकरण की जीवंत उदाहरण के रूप में जनपद की अधिशासी अधिकारी नीलम चौधरी, महिला थानाध्यक्ष पूनम अवस्थी के साथ ही यश भारती सम्मान से सम्मानित अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी मनु पाल एवं समाजसेवी रमा तिवारी ने भी नारी सशक्तिकरण एवं महिला स्वाबलंभन के दृष्टिगत अपने अपने विचारों से उपस्थित महिलाओं को सशक्त व आत्मनिर्भर बनने हेतु प्रेरित किया।
कार्यक्रम में कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत पांचला भारतीय महिलाओं को कन्या जन्मोत्सव पर बेबी किट वितरण मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के 25 लाभार्थियों को प्रशस्ति पत्र वितरण जनपद में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाली 21 मेधावी छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह मिशन शक्ति के अंतर्गत अच्छा कार्य करने वाली 34 महिलाओं को 5 महिला पुलिस अधिकारियों, 05 महिला लेखपालों, जिला कार्यक्रम विभाग के अंतर्गत 8 महिलाओं को प्रशस्ति पत्र, बेसिक शिक्षा के 15 अध्यापिकाओं, प्रधानमंत्री आवास के 5 महिला लाभार्थियों, मुख्यमंत्री आवास के 5 महिला लाभार्थियों, कृषि क्षेत्र में 10 उन्नत कृषक महिलाओं को, पंचायती राज विभाग के अंतर्गत 10 महिला सफाई कर्मचारियों को, एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत 10 महिला समूह के कार्मिकों को, चिकित्सकों को, महाविद्यालयों की 05 महिला अध्यापिकाओं का सम्मान प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
इसके उपरांत मा0 विधायिका छिबरामऊ अर्चना पांडेय जी द्वारा आज के सुअवसर पर थाना छिबरामऊ में नवनिर्मित महिला पुलिस चौकी एवं परामर्श केंद्र का फीता काट कर शुभारम्भ किया एवं बताया कि महिलाएं आज पूर्ण सुरक्षित है, परंतु उसके उपरांत भी यदि कोई परेशानी आती है तो इस नायें परामर्श केंद्र पर महिलाएं आकर अपनी परेशानी बता कर उचित परामर्श प्राप्त कर सकती हैं। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने भी अपने विचार व्यक्त किये एवं महिलाओं के उत्थान हेतु नवनिर्मित महिला पुलिस चौकी एवं परामर्श केंद्र के संबंध में सभी को जानकारी दी। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस जनता की मित्र के रूप में कार्य करती है जिससे जनता किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर पुलिस से संपर्क स्थापित कर अपनी जनपद में संचालित महिला सुरक्षा समिति के सदस्यों के माध्यम से परामर्श प्राप्त कर सकती हैं एवं महिला थाना में भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं।
महिला थाना छिबरामऊ में थाना प्रभारी के रूप में निर्मला कुमारी ने अपना पदभार सम्हाला एवं अपने पद पर सभी को न्याय दिलाने हेतु सभी को आश्वस्थ किया।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी आर एन सिंह, अपर जिलाधिकारी(वि/रा0) गजेंद्र कुमार सहित अन्य संवंधित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।

और पढ़ें
1 of 36
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.