Jan Sandesh Online hindi news website

यात्रियों की कोरोना जांच व्यवस्था बनाने, यात्रियों की कोरोना जांच

0

बिलासपुर।  जोनल स्टेशन में अब यात्रियों के सैंपल भी लिए जाएंगे। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने कर्मचारियों के अलावा सभी जरुरी उपकरणों की व्यवस्था कर ली है। अब जरुरत यात्रियों को जांच के लिए रोकने और शारीरिक दूरी का पालन कराने जैसी प्रमुख व्यवस्थाओं की है। यह बिना रेलवे से सहयोग मिले संभव नहीं है।

और पढ़ें
1 of 70

इसके मद्देनजर ही दोपहर 12 बजे रेलवे स्टेशन में रेलवे व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के बीच बैठक होगी। जिसमें स्वास्थ्य विभाग की ओर आवश्यकताओं को बताया जाएगा। ताकि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश समेत जिन राज्यों में कोरोना का संक्रमण ज्यादा है वहां के यात्रियों की जांच हो सके।

कुछ राज्यों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग चिंतित भी है। यही वजह है कि इन राज्यों से पहंुचने वाले यात्रियों की स्टेशन में जा करने के लिए बूथ बनाए गए हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। यह व्यवस्था पिछले कुछ दिनों से हैं पर स्वास्थ्य विभाग का अमला यात्रियों को जांच के लिए नहीं रोक पाता। वह आवाज लगाते रहते हैं और यात्री बूथ के बाजू से निकल जाते हैं।

इसकी वजह से जो संक्रमित है या फिर जिनमें लक्षण है उनकी पहचान नहीं हो पाती और स्टेशन से बाहर निकलकर शहर पहंुच जाते हैं। इसके कारण शहरवासियों में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। जांच के दौरान आ रही यही दिक्कत और सैंपल की आवश्यकता महसूस की गई है।

इसी के मद्देनजर उन्होंने रेलवे को पत्र लिखा है। जिसमें सैंपल लेने और उपकरणों को रखने के लिए अलग जगह की मांग की है। इसके अलावा सबसे प्रमुख यात्रियों को जांच को रोकने की है। जिसमें स्वास्थ्य कर्मियों को पहले दिन से दिक्कत आ रही है।

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि बैठक के दौरान रेल प्रशासन से आरपीएफ की मांग की जाएगी। सभी यात्रियों को व्यवस्थित कर सके। हालांकि सैंपल उन्हीं यात्रियों की ली जाएगी जिनमें लक्षण है या फिर संक्रमित के संपर्क में आए हैं। अन्य यात्रियों की केवल थर्मल स्क्रीनिंग से जांच की जाएगी।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.