Jan Sandesh Online hindi news website

नेटफ्लिक्स को गुरुवार तक का समय सीन हटाने के लिए, Bombay Begums में आपत्तिजनक दृश्यों पर बाल आयोग सख़्त

0

नई दिल्ली। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स को वेब सीरीज़ बॉम्बे बेगम्स से आपत्तिजनक दृश्य हटाने के लिए गुरुवार तक का समय दिया है। 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर रिलीज़ हुई सीरीज़ के कुछ दृश्यों को लेकर आयोग ने एतराज जताते हुए नेटफ्लिक्स को नोटिस भेजा था।

और पढ़ें
1 of 949

बॉम्बे बेगम्स का निर्देशन अलंकृता श्रीवास्तव ने किया है। आयोग ने 11 मार्च को नेटफ्लिक्स को एक नोटिस भेजकर शो में बच्चों से संबंधित आपत्तिजनक कंटेंट के चलते प्लेटफॉर्म से हटाने के लिए कहा था। साथ ही नेटफ्लिक्स से 24 घंटों के भीतर जवाब तलब किया था, जिसका पालन ना करने पर वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी थी। नोटिस में कहा गया था- इस तरह का कंटेंट बच्चों के दिमाग को ना सिर्फ़ को दूषित करेगा, बल्कि उन्हें शोषण के रास्ते पर ले जा सकता है। नेटफ्लिक्स को बच्चों से संबंधित कंटेंट प्रसारित करने में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। आयोग ने अल्पवयस्कों पर दिखायी गये कामुक और ड्रग्स वाले दृश्यों पर नाराज़गी ज़ाहिर की थी।

अब आयोग ने वेब सीरीज़ से इन दृश्यों को तत्काल हटाने का निर्देश दिया है। आयोग ने इन दृश्यों को जेजे एक्ट 2015, पोक्सो एक्ट 2012 और आईपीसी 1860 का उल्लंघन बताया है, क्योंकि इन्हें फ़िल्माने में अल्पवयस्कों का इस्तेमाल किया गया है। नेटफ्लिक्स ने इसके लिए अपनी लीगल टीम से समय मांगा, जिसके बाद उन्हें 18 मार्च पूर्वाह्न तक का समय दे दिया गया है। हालांकि, सीरीज़ की स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर तत्काल बंद करने को कहा गया है।

बता दें, ट्विटर पर कुछ यूज़र्स ने इस मुद्दे को उठाते हुए इसकी शिकायत बाल आयोग से की, जिसके बाद आयोग ने नेटफ्लिक्स को नोटिस भेजा। शिकायतकर्ता ने एक स्क्रीनशॉट नत्थी किया था, जिसमें 13 साल के बच्चे को प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन करते हुए दिखाया गया था। बॉम्बे बेगम्स में पूजा भट्ट, अमृता सुभाष, शहाना गोस्वामी ने मुख्य किरदार निभाये हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.