Jan Sandesh Online hindi news website

अभियोजन कार्यो की मासिक समीक्षा बैठक हुई आयोजित

0
उन्नाव ।
और पढ़ें
1 of 236
जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में पन्नालाल सभागार में अभियोजन कार्य सम्बन्धित अभियोजित वादों का विवरण अवर न्यायालय एवं सत्र न्यायालय में चल रहे विभिन्न वादों में अब तक हुई पैरवी आदि के बारे में विस्तार से जानकारी ली गयी।
जिलाधिकारी ने उपस्थित वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी एवं शासकीय अधिवक्ताओं से कहा कि जिले के चर्चित केसों की पैरवी वृहद स्तर पर चिन्हिकित कर निर्धारित समय सीमा में वादों का निस्तारण कराया जाये। जनपद के सम्बन्धित क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये गये कि अपने-अपने क्षेत्र के कम से कम पांच-पांच माफियाओं का चिन्हिकन करके उनके विरूद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही की जाये। महिलाओं सम्बंधित केशज व बालिकाओं के बलात्कार संबंधी मामले की सुनवाई तत्काल की जाए। उन्होंने कहा कि जमीदारी उन्मूलन की धारा 198क (2), अधीनस्थ न्यायालयों का अभियोजक वार अभियोगों, शिनाख्त तथा जनपदीय न्यायालयों में गवाहों पर कड़ी नजर रखी जाये, यह भी ध्यान रखा जाये, वादों को विपक्षी पार्टी निष्प्रभावी न होने दे। जिलाधिकारी ने अभी कहां की शासन से जो भी नए दिशानिर्देश आए हैं उनके आधार पर संबंधित अधिकारी कार्य करें।
जिलाधिकारी ने प्रवर्तन कार्यों से सम्बन्धित वादों के सम्बन्ध में जिला पूर्ति, वन परिवहन तथा विद्युत विभाग से जानकारी ली। आबकारी अपराधों के नियंत्रण हेतु मारे गये छापे, कृषि प्रकोष्ठ, खाद्य अप मिश्रण निवारण, श्रम, अवैध खनन, परिवहन, भण्डार के विरूद्ध अब तक की गयी कार्यवाही से सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों से विस्तार से जानकारी ली।
बैठक में पुलिस अधीक्षक  आनन्द कुलकर्णी, अपर जिलाधिकारी  राकेश कुमार सिंह, समस्त उप जिलाधिकारी श्रेत्राधिकारी, शासकीय अधिवक्ता  अनिल त्रिपाठी, जेयष्ठ अभियोजन अधिकारी  आर0एल0 यादव, अभियोजन अधिकारी, पवन कुमार मिश्रा, मनोज कुमार पटेल,हृदय नारायण, सहायक अभियोजन अधिकारी  दितेन्द्र कुमार यादव,  मनोज कुमार शुक्ला सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित थे।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.