Jan Sandesh Online hindi news website

पुरे विश्व में 32 प्रतिशत महिलाएं की मृत्यु गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज के कारण हो रही है

0

आज पुरे विश्व में 32 प्रतिशत महिलाएं की मृत्यु गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज के कारण हो रही है । महिलाओं में आज डायबिटीज तेजी से फ़ैल रहा है खासकर उस समय जब महिलाऐ गर्भ धारण करती है क्योंकि उस समय खाने पीने का दवव परिवार के द्वारा बहुत ही ज्यादा रहता है । और उसी खाने पीने के दरम्यान शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है जिससे की गर्भ में पल रहे बच्चों पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है ।

और पढ़ें
1 of 538

अक्सर ये देखा जाता है कि जब कोई भी महिला गर्भ धारण करती है तो शारिरीक श्रम करना भी कम हो जाता है और गलत खान-पान होने के कारण महिलाओं में डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है । जब कोई भी महिला गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज से पीड़ित होती है तो इसका सबसे ज्यादा प्रभाव बच्चे पर पड़ता है बच्चा अपंग पैदा होता बच्चे में बिकास ना के बराबर होता है । अगर बच्चा हो भी गया तो उस बच्चे को टाइप वन डायबिटीज होने का खतरा बढ़ा रहता है ।

अतः जरुरत है समय रहते हमेशा ब्लड सुगर जांच कराते रहने की जिससे की आपका ग्लुकोज़ नियंत्रण में रहे । उक्त बातें आस्था फाऊंडेशन द्वारा चलाए जा रहे वाक् फार लाइफ डायबिटीज जागरूकता अभियान के तहत कदमकुआं के सैकड़ों महिलाओं को संबोधित करते हुए शहर के मशहूर स्त्री रोग विशेषज्ञ डा मंजु गीता मिश्रा ने कही । डा प्रज्ञा मिश्रा ने कहा कि आज अगर समय रहते महिलाएं गर्भ धारण करने के साथ अपने आप को तनावमुक्त रहकर और हल्का टहलने पर ध्यान नहीं देगी तो अगर ब्लड सुगर बढ़ गया तो फिर संभालना मुश्किल हो जाता है । अतः महिलाओं से निवेदन है कि हमेशा सुगर को नियंत्रित में रखें जब कोई महिला गर्भ धारण करें ।

डाक्टर दिवाकर तैजसवी ने कहा कि महिलाओं को चाहिए की हमेशा सुगर को नियंत्रित करने के लिए जंक फ़ूड डब्बा बंद पदार्थ एवं तलीय पदार्थ से परहेज़ करें । संस्था के सचिव पुरूषोत्तम सिह ने कहा कि जिस तरह आज महिलाओं को डायबिटीज अपना शिकार बना रही है ये चिन्ता का विषय है क्योंकि समाज को आगे बढ़ाने के लिए महिलाओं को स्वस्थ रहना जरूरी है इसलिए आस्था फाऊंडेशन लगातार डायबिटीज को लेकर महिलाओं को जागरूक कर रही है । कार्यक्रम में सैकड़ों महिलाओं ने हिस्सा लिया और अपने डायबिटीज से संबंधित प्रश्न भी किते जिसका ज़बाब कार्यक्रम में उपस्थित विषेशज्ञ ने दिया ।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.