Jan Sandesh Online hindi news website

चेयरमैन उषा कटिहार के मोहल्ले में विकास कोसों दूर__आखिर क्यों

0

उन्नाव, प्रधानमंत्री के आदेशों की खुलेआम उड़ाई जा रही है धज्जियां मार्गो पर गंदगी जलभराव की समस्या और मार्ग नालियों का नहीं यह गए निर्माण विद्युत पोल ना होने के कारण वलियों के सहारे से खींचे गए हैं विद्युत कलेक्शन।

और पढ़ें
1 of 236

उन्नाव वार्ड नंबर 25 लोधन हार चांदमारी यह मोहल्ला रीता सभासद के देख रेख में है और ठीक उसी वार्ड में नगर पालिका परिषद अध्यक्ष उषा कटियार का निवास है उषा कटिहार चेयरमैन के आवास से लगभग आधा किलोमीटर से भी कम मोहल्लों में जैसे राज नारायण खेड़ा, लोधन हार, गंगू खेड़ा और चांदमारी की बस्ती जहां पर विकास कोसों दूर है विकास के नाम पर जमकर की जा रही है लूट इन मोहल्लों के मार्गों पर जलभराव की समस्या हमेशा उत्पन्न रहती है और कई जगहों पर कच्चे मार्ग हैं और नालियों का भी निर्माण नहीं कराया गया है जिससे मार्गो पर जलभराव रहता है और जलभराव होने से डेंगू जैसे घातक मच्छर उत्पन्न होते हैं और उन मच्छरों से डेंगू टाइफाइड जैसी घातक बीमारियां उत्पन्न हो रही है।

जिस मोहल्ले में नगर पालिका अध्यक्ष और सभासद का आवास हो तो उस मोहल्ले में आखिर विकास कोसों दूर क्यों यह एक सोचनीय विषय है। यह फिर विकास के नाम पर सरकार के खजाने का जमकर बंदरबांट किया गया है। वहीं पर काशीराम रोड से नहर बंबी मार्ग जो लोधन हार होते हुए कल्याणी मार्ग में जुड़ा हुआ है और यह मार्ग पूरी तरह से कच्चा मार्ग है जिससे बारिश के समय बारिश का पानी और घरों का पानी एकत्र हो जाता है

जिससे यह मार्ग दलदल के आकार में तब्दील हो जाता है इस मार्ग से आवागमन करने वाले यहां के नगरवासी बच्चे बूढ़े विद्यार्थियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है जिसको लेकर नगर वासियों ने कई बार नगर पालिका जिला अधिकारी को शिकायत पत्र भी दिया लेकिन अभी तक किसी भी समस्या का निदान नहीं हुआ। नगर वासियों के माने नगर पालिका हमसे जलकर, गृहकर आदि करो का भुगतान करवा लेती है फिर भी हमें नगर पालिका द्वारा मूलभूत सुविधाओं से वंचित रखा जाता है आखिर क्यों।

ठीक उसी वार्ड में मुस्कान पैलेस के पीछे कई ऐसे घर है जो कई वर्षों से अंधेरे में अपना गुजर-बसर कर रहे हैं लेकिन अभी तक उनको विद्युत प्राप्त नहीं हुई यहां के नगरवासी कई बार काशीराम विद्युत उप केंद्र कनेक्शन के संबंध में गए लेकिन अभी तक विद्युत कर्मचारियों की घोर लापरवाही के कारण ना वहां पर विद्युत पोल लगाए गए हैं और ना ही नगर वासियों को विद्युत कनेक्शन दिए गए हैं काशीराम विद्युत उपकेंद्र के एसडीओ और जेई निशांत का कहना है प्रति विद्युत पोल का ₹25000 रुपए देना होगा जबकि वहीं पर कई विद्युत कनेक्शन अवैध रूप से पैसों की लेनदेन पर किए गए हैं जबकि उनकी दूरी विद्युत पोल से लगभग 100 मीटर से ऊपर है और वहीं पर कई घर ऐसे हैं जो अंधेरे में अपना जीवन यापन करें और विद्युत कर्मचारियों द्वारा घोर अनदेखी की जा रही है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.