Jan Sandesh Online hindi news website

प्रशासन की नहीं दिख रही तैयारी, बढ़ रहे संक्रमित

0

जांजगीर-चांपा। जिले में कोरोना अनियंत्रित हो गया है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के साथ ही हालात खराब हो रहे हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या अब 21 हजार पहुंच गई है। ऐसे में कोरोना संक्रमण अब स्वास्थ्य विभाग से नहीं संभल रही है। जिस हिसाब से मरीजों की संख्या बढ़ रही है उस हिसाब से बेड की व्यवस्था विभाग के पास नहीं है। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 8 सौ के ऊपर है। जबकि मरीजों को रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास एक्सक्लूजिव कोविड अस्पताल के 80 बिस्तर के अलावा कोई दूसरी व्यवस्था नहीं है। पिछली बार जिला पंचायत से लगे हुए आकांक्षा हास्टल, दिव्यांग स्कूल सहित जिलेभर में 11 कोविड केयर सेंटर बनाए गए थे जहां मरीजों को रखकर उनका इलाज किया जा रहा था। हालांकि जब से मरीजों को होम आइसोलेशन में रखने की छूट दी गई है इसके बाद से स्वास्थ्य विभाग की समस्या कम हो गई है।

और पढ़ें
1 of 70
कोरोना संक्रमण से अब जिले का कोई भी ब्लाक अछूता नहीं रह गया है। जिले के सभी 9 ब्लाक में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। जिले में पिछले साल मई, जून और जुलाई तीन महीने में गिने-चुने मरीज मिल रहे थे। इसके बाद अगस्त महीने के अंतिम सप्ताह से जो रोजाना 40 से 50 मरीज मिलने का सिलसिला शुरू हुआ है वह सितंबर, अक्टूबर और नबंबर तक 150 से 300 मरीज मिलने तक जारी था। इस साल भी शुरूआत के तीन महीने जनवरी, पᆬरवरी और मार्च तक हालात सुधर गए थे। बमुश्किल से 5 से 10 मरीज मिल रहे थे लेकिन मार्च के आखिरी और अप्रैल के पहले सप्ताह में कोरोना का संक्रमण के बढ़ने का सिलसिला ऐसे शुरू हुआ कि अब एक दिन में 100 से लेकर 150 से अधिक मरीज मिल रहे हैं। मंगलवार को जिले में 163 संक्रमित पाए गए । जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 21 हजार के करीब पहुंच गई है। जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या भी 863 पहुंच गई है। जबकि इससे पहले एक्टिव केस 100 से भी कम हो गए थे। लगातार मिल रहे मरीजों की संख्या ने कोरोना संक्रमण से निपटने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के द्वाराकी गई सारी तैयारियों की पोल खोल कर रख दी है। कोरोना संक्रमण अब स्वास्थ्य विभाग से नहीं संभल पा रही है। मरीजों को रखने के लिए विभाग के पास पर्याप्त जगह ही नहीं है। अब जब मरीजों की संख्या बढ़ रही है तो आनन 7 पᆬानन में जगह की तलाश कर कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे हैं। लेकिन अभी भी विभाग के पास मरीजों को रखने के लिए पर्याप्त बेड और कोविड केयर सेंटर नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के पास गंभीर मरीजों के लिए 250 आक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था है। इसके अलावा आकांक्षा सेंटर को पिᆬर से शुरू करने की तैयारी की जा रही है। विभाग के पास बेड की व्यवस्था नहीं होने के कारण मरीजों को मजबूरी में होम आइसोलेशन में रहना पड़ रहा है।

कोविड अस्पताल में 61 मरीज भर्ती

जिला अस्पताल के नवीन भवन में करीब 50 लाख रूपए से अधिक खर्च कर 80 बिस्तरों वाला एक्सक्लूजिव कोविड अस्पताल को सुविधा बनाया गया है। राहत की बात यह है कि कोविड अस्पताल के सभी 80 बिस्तर को आक्सीजन युक्त बना दिया गया है। यहां वर्तमान में 61 मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। कोविड अस्पताल में गंभीर मरीजों की इलाज के लिए आईसीयू के साथ ही 9 वेंटिलेटर की व्यवस्था है। वहीं संक्रमित गर्भवती महिलाओं के लिए डिलीवरी रूम तैयार किया गया है।

एक्सक्लूजिव कोविड अस्पताल में आपरेशन थियेटर नहीं

जिले में कोरोना संक्रमण से सभी वर्ग के लोग प्रभावित हो रहे हैं। कोरोना मरीजों के इलाज के लिए लाखों रूपए खर्च कर बनाए गए एक्सक्लूजिव कोविड केयर सेंटर आपरेशन थियेटर का निर्माण अभी तक नहीं किया गया है। ऐसे में यदि किसी मरीज का आपरेशन करने की नौबत आ जाती है तो उसे बिलासपुर रायपुर या पिᆬर रायगढ़ रिपᆬर करना पड़ता है।

” जिले के सभी प्राइवेट अस्पतालों और जिला अस्पताल सहित 250 बिस्तर आक्सीजन युक्त व्यवस्था की गई है। इसके अलावा मरीजों की इलाज के लिए वर्तमान में डाक्टर, स्वास्थ्यकर्मी सहित अन्य सभी सुविधाएं पर्याप्त है और नए केयर सेंटर बनाए जाएंगे। जिला पंचायत के आकांक्षा परिसर को भी व्यवस्थित कर लिया गया है। आवश्यकतानुसार स्टापᆬ व संसाधन की व्यवस्था की जाएगी।

गजेन्द्र सिंह ठाकुर

सीईओ जिला पंचायत एवं प्रभारी कोविड-19

अस्थाई कोविड़ अस्पताल को शुरू करने विधायक ने की मांग

पᆬोटोः 7 जानपी 10 – विधायक सौरभ सिंह

बलौदा । (नईदुनिया न्यूज)। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए विधायक सौरभ सिंह ने अस्थाई कोविड़ अस्पताल को शुरू करने कलेक्टर को पत्र लिखा है। बलौदा क्षेत्र में प्रतिदिन कोरोना के नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। जिसके कारण कई कोरोना संक्रमित मरीजो के पास होम आसोलेशन में सुविधा का अभाव है । लगातार कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से लोगो मे भी कोरोना का भय सताने लगा है।जिसको ध्यान में रखते हुए विधायक सौरभ सिंह ने कलेक्टर को पत्र लिखकर अकलतरा विधानसभा सहित अन्य ब्लाक में कोविड़ का हॉस्पिटल संचालित था, जो आज बंद है, उसे शीघ्र शुरू किया जाए। जिससे जनहित में लोगों का समय में सुरक्षा किया जा सके।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.