Jan Sandesh Online hindi news website

दिल्ली : कोरोना के नए मामलों ने फिर से तोड़ा रिकॉर्ड, सीएम केजरीवाल ने केंद्र से मांगी मदद

0

नई दिल्ली दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बेकाबू होते रफ्तार को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से मदद मांगी है। सीएम केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से आईसीयू बेड कम होते जा रहे हैं। आक्सीजन बेड भी कम हो रहे हैं। केंद्र सरकार से आक्सीजन, बेड और कोरोना को लेकर दवाइयां तुरंत मांगी हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई के दौरान हमें केंद्र सरकार से हमेशा मदद मिली है। मैं उम्मीद करता हूं कि इस बार भी केंद्र सरकार हमें पूरी मदद देगी।

और पढ़ें
1 of 4,009

सीएम केजरीवाल ने कहा कि सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से 3600 बेड का इंतजाम किया जा रहा है। चार दिन के अंदर 6 हजार बेड जुटाए जाएंगे। केंद्र सरकार के दिल्ली में 10 हजार बेड हैं। उनसे बेड मांगे हैं। आज अफसरों की बैठक में सख्त निर्देश दिए गए हैं कि कोई भी दवाईयों की कालाबाजारी करता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 24,000 मामले 

मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 24,000 मामले सामने आए हैं। पॉजिटिविटी दर 24 फीसद से ज्यादा हो गई है। स्थिति काफी गंभीर है। दिल्ली में अब ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की कमी होने लगी है। ऑक्सीजन बेड बहुत तेजी से खत्म होते जा रहे हैं। सरकार कोशिश कर रही है कि बेड बढ़ाया जाए। उम्मीद है कि अगले 2-4 दिन में हम बड़े स्केल पर बेड बढ़ा पाएंगे। यमुना स्पोर्टस कॉम्पलेक्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में लगभग 1300 ऑक्सीजन बेड का इंतजाम किया जा रहा है।

सीएम ने दिए कड़े फैसले लेने के संकेत

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम कुछ दिनों तक स्थिति पर कड़ी नजर रखेंगे। अगर हालात बिगड़ते हैं, तो हम आपके जीवन को बचाने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत है, हम उठाएंगे।

बता दें कि दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना के रिकॉर्ड 19,486 नए केस मिले और 141 मरीजों की जान चली गई। बीते एक सप्ताह में ही 97,097 मामले सामने आ चुके हैं। इस तरह सक्रिय केसों की संख्या 61,005 हो गई है। हालांकि, पिछले 24 घंटे में 12,649 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.