Jan Sandesh Online hindi news website

इस सरकारी स्कीम में 10 हजार मंथली निवेश से बनेगा लाखों का फंड, पैसा भी 100% सुरक्षित

0

वेतनभोगी वर्ग और मध्यम आय वर्ग के लिए रिकरिंग डिपॉजिट (RD)  एक सुरक्षित निवेश विकल्प के रूप में जाना जाता है। भारतीय डाक की वेबसाइट के अनुसार, अप्रैल से जून तिमाही के लिए पोस्ट ऑफिस आरडी पर 5.8 फीसद प्रति वर्ष की दर से ब्याज प्रदान किया जा रहा है। आरडी से प्राप्त ब्याज पूरी तरह करयोग्य होता है। खास बात यह है कि आरडी में ब्याज दर त्रैमासिक चक्रवृद्धि होती है। आरडी एक ऐसा निवेश साधन है, जिसमें लोग नियमित रूप से एक तय राशि जमा करा सकते हैं और ब्याज आय कमा सकते हैं।

और पढ़ें
1 of 599

पोस्ट ऑफिस आरडी पांच साल की अवधि के साथ आती है। इस योजना में न्यूनतम 100 रुपये प्रति माह या 10 रुपये के गुणकों में किसी राशि से खाता खोला जा सकता है। वहीं अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है। पोस्ट ऑफिस आरडी एक सरकार समर्थित योजना है।

ये खुलवा सकते हैं खाता

पोस्ट ऑफिस आरडी में एकल व्यस्क, संयुक्त खाता (3 वयस्क तक), नाबालिग की ओर से एक अभिभावक, अपने नाम पर 10 साल से ऊपर का नाबालिग और मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति की ओर से एक अभिभावक खाता खुलवा सकता है। यहां बता दें कि इस योजना में कितने भी खाते खोले जा सकते हैं।

डिपॉजिट

इस योजना में खाता कैश या चेक दोनों से खुलवाया जा सकता है। इस योजना में न्यूनतम 100 रुपये प्रति माह और उससे अधिक 10 रुपये के गुणकों में रुपये जमा कराए जा सकते हैं। अगर महीने के शुरुआती 15 दिनों में खाता खुला है, तो आपको महीने की 15 तारीख तक रुपये जमा कराने होंगे। वहीं, अगर महीने के शुरुआती 15 दिनों के बाद खाता खुला है, तो महीने की आखिरी तारीख से पहले रुपये जमा कराने होंगे।

प्री-क्लोजर

खाता खुलने के तीन साल बाद आरडी खाते को मैच्योरिटी से पहले बंद किया जा सकता है। खाते के मैच्योरिटी से पहले बंद होने की स्थिति में पोस्ट ऑफिस बचत खाता ब्याज प्रदान होगा।

लोन की सुविधा भी है उपलब्ध

पोस्ट ऑफिस आरडी योजना में लोन की सुविधा भी उपलब्ध है। लोन की यह सुविधा 12 किस्तें जमा होने के बाद मिलती है। खाते में जमा राशि की 50 फीसद राशि तक का लोन लिया जा सकता है। लोन का पुनर्भुगतान एकमुश्त राशि या समान मासिक किस्तों में किया जा सकता है। लोन पर ब्याज दर 2 फीसद+आरडी पर ब्याज दर होगी। निकासी की तारीख से पुनर्भुगतान की तारीख तक की अवधि पर ब्याज की गणना होगी। अगर मैच्योरिटी तक लोन का पुनर्भुगतान नहीं होता है, तो लोन+ब्याज आरडी अकाउंट की मैच्योरिटी वैल्यू से काटा जाएगा। संबंधित पोस्ट ऑफिस में पासबुक के साथ लोन आवेदन फॉर्म जमा कर लोन लिया जा सकता है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comment section

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.