इंदिरा की नीति पर चलकर मोदी ने हासिल की लोकप्रियता

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राजनीति

इंदिरा की नीति पर चलकर मोदी ने हासिल की लोकप्रियता

PM narendra modi


देश- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 72 साल के हो गए हैं। देश मे उनका जन्मदिन बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। लोगो ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से पीएम नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी। वही अगर हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता की बात करे तो यह इंदिरा गांधी के समान ही है।

एक समय जिस तरह इंदिरा गांधी हर किसी की पसंदीदा राजनेता थी। ठीक उसी प्रकार आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगो के पसंदीदा नेता हैं। लोग मोदी के हर कथन पर विश्वास करते हैं। लोगो को लगता है कि वह जो भी काम करते हैं वह देश हित मे होता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इंदिरा गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैसे लोगो के लिए इतना पसंदीदा बन गए। 
अगर अपने इस बात पर विचार नही किया तो आज हम आपको बताते हैं इन दोनों राजनेताओ की लोकप्रियता का राज। अगर हम इंदिरा गांधी की बात करे तो उनकी लोकप्रियता का राज उस दौर की नारे रहे हैं। जब इंदिरा के विरोध में अभियान चल पड़े लोगो ने इंदिरा हटाओ का नारा दिया। तो इंदिरा गांधी ने अपने भाषण में कहा कि वह कहते हैं इंदिरा हटाओ और मैं कहती हूँ गरीबी हटाओ। इनके भाषण लोगो के भाषण हुआ करते थे और वह लोगो से जुड़के5राजनीति करती थी।
ठीक वैसे ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण और उनके नारे उनकी लोकप्रियता का अमुख पायदान बने हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण हमेशा जनता से जुड़े होते हैं। वह जनता की सहमति के साथ उनके मुद्दों पर बात करते हैं और लोगो से व्यक्ति तौर पर जुड़ जाते हैं। वही अगर हम मोदी की लोकप्रियता में अमुख भूमि6निभाने वाले नारे की बात करे तो ...
अच्छे दिन आने वाले हैं हम मोदी जी को लाने वाले हैं।
हर हर मोदी घर घर मोदी। 
अबकी बार मोदी सरकार।
सबका साथ सबका विकास।
मैं भी चौकीदार।
ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश में खूब लोकप्रियता दिलाई और मोदी को जनता का नेता बना दिया।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश