गुलाम नबी आजाद से यह उम्मीद कभी नही थी, इस्तीफे पर क्या बोलूं शब्द नही है:- गहलोत

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राजनीति

गुलाम नबी आजाद से यह उम्मीद कभी नही थी, इस्तीफे पर क्या बोलूं शब्द नही है:- गहलोत

Gulam Nabi Azad


Politics: गुलाम नबी आजाद के इस्तीफे ने कांग्रेस को हिला कर रख दिया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और सोनिया गांधी के विश्वशनीय अशोक गहलोत ने उनके इस्तीफे पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए उनके पत्र की निंदा की है। उन्होंने कहा, उन्होंने कभी नही सोचा था की गुलाम नबी आजाद ऐसा करेंगे।

उन्होंने आगे कहा, गुलाम नबी आजाद को आज अगर किसी से इतना महत्व मिल रहा है। तो इसका कारण कांग्रेस पार्टी है। कांग्रेस पार्टी ने गुलाम नबी आजाद को हर चीज दी। आज वह अगर चर्चाओं में है तो उसके पीछे इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी है। लेकिन आज उन्होंने कांग्रेस का दामन छोड़ दिया और कांग्रेस पर ही सवाल उठाए हैं।
उन्होंने आगे कहा, मैं उनके इस्तीफे पर क्या कहूं। शब्द नही है। नही समझ आ रहा है। क्योंकि उन्होंने जो किया है उसकी कल्पना नही की थी। हमे कभी यह उम्मीद नही थी की गुलाम नबी आजाद कुछ ऐसा करेंगे। वह पार्टी का विश्वास थे। लेकिन उन्होंने सोनिया गांधी को तब पत्र लिखा जब वह मेडिकल चेकअप के लिये अमेरिका गई थी।
जानकारी के लिए बता दें गुलाम नबी आजाद ने आज कांग्रेस पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने सोनिया गांधी को पांच पन्ने का पत्र लिखते हुए पार्टी छोड़ी है। पत्र में उन्होंने खुलकर कांग्रेस की नीतियों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है आज कांग्रेस जहां है वहां से लौटना मुश्किल है। कांग्रेस का नेतृत्व अब सही हाथो में नही है। 
पार्टी के कई नेताओं को किनारे कर दिया गया है। वही अब पार्टी में उन लोगो को मौका दिया जा रहा है। जिन्हें राजनीति की समझ नही है। अब पार्टी में चापलूसों के लिए जगह है और उन्हीं का बोलबाला है। वही राहुल गांधी के नेतृत्व ने पार्टी में सलाह लेने की प्रक्रिया को खत्म कर दिया है। मै आज यह इस्तीफा बहुत भारी मन से लिख रहा हूँ।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश