क्यों अमेरिका ने मोदी पर लगाया था वीज़ा बैन

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राजनीति

क्यों अमेरिका ने मोदी पर लगाया था वीज़ा बैन

क्यों अमेरिका ने मोदी पर लगाया था वीज़ा बैन


देश- भारत मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि हिंदुत्व के रूप में जानी जाती है। लोग उन्हें हिन्दू हितैषी भी कहते हैं। क्योंकि गुजरात दंगों के बाद से इन्हें मुस्लिम विरोधी करार दिया जाता है। उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और गुजरात मे हिन्दू मुस्लिम विवाद तूल पर था। पूरे भारत मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस समय से लेकर आज तक भगवा पक्षधर माने जाते हैं।
नरेंद्र मोदी की मस्लिम विरोधी छवि के चलते अमेरिका ने उन पर यूएस इंटरनेशनल रिलिजियस फ़्रीडम एक्ट 1998 के तहत वीज़ा बैन लगाया था। लेकिन यह बैन साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो हटाया गया। जानकारी के लिए बता दें यह बैन अमेरिकी एजेंसी कमीशन ऑन इंटरनेशनल रिलिजियस फ़्रीडम की सिफ़ारिश पर लगाया गया था। 
लेकर जब से वह प्रधानमंत्री बने हैं उनकी हिंदुत्व की छवि ने कभी विश्व के अन्य देशों को प्रभावित नहीं किया है। लोग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सम्मान करते हैं और वह सभी धर्मों के लोगों से सम्मान के भाव से मिलते हैं। प्रधानमंत्री बनने के बाद से नरेंद्र मोदी ने कई बार अमेरिका का दौरा किया है। वहीं अमेरिकी कांग्रेस को भी इन्होंने सम्बोधित किया है।
लेकर मोदी यहीं नहीं रुके उन्होंने अपना प्रभाव इस्लामिक देशों पर बनाने के लिए प्रयास किया। मुस्लिम देशों के साथ सम्बंध मजबूत करने के लिए मोदी ने उनके हित को आगे रखकर उन्हें उच्च अधिकारियों समेत राजनेताओं से मुलाकात की। वहीं आज मोदी के नेतृत्व में भारत की छवि वैश्विक स्तर पर उम्दा बनी हुई है और प्रत्येक देश भारत को सम्मान की नजर से देख रहा है।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश