Jansandesh online hindi news

बस इतनी सी लागत में छपता है एक नोट

 | 
बस इतनी सी लागत में छपता है एक नोट

बैंक:- हम अपने खर्च के लिए 10 , 20 ,100 ,200 के कई नोटो का प्रयोग करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की जिन नोटो का उपयोग आप अपने जीवन को काटने में करते हैं उनकी छपाई कब में किंतना खर्च आता है। अगर नहीं पता है तो आज हम आपको इन नोटों की छपाई में आने वाले खर्च के विषय मे बताते हैं। 

क्योंकि नोटो की छपाई में आने वाले खर्च को लेकर आरबीआई ने खुलासा किया है और कहा है कि नोटबंदी के बाद से नोटों की छपाई में अभी तक करीब 5000 करोड़ रुपए खर्च हुआ है। इसका एक कारण यह भी है कि नोटबंदी के बाद 500 और 1000 रुपए के नोट बंद कर दिए और इनकी जगह पर 500 के नए नोट व 2000 रुपए के नोट जारी किए गए थे।
मिली जानकारी के अनुसार जब हम 10, 20 , 50, 100 ,200 के नोट की छपाई करते हैं तो लागत अलग लगती है लेकिन जब हम 2000 के नोट को छपाई करते हैं तो उसकी लागत अन्य नोटो की तुलना में अलग होती है। जिसके कारण रिजर्व बैंक के लिए नोटो का वितरण महंगा हो जाता है। वित्तीय वर्ष 2021-22 में 20 रुपए, 50 रुपए, 100 रुपए और 2022 रुपए के नोटों की बिक्री मूल्य में मामूली वृद्धि हुई है। हालांकि, 500 रुपए की बिक्री लागत नहीं बदली, जबकि कीमत पिछले साल कीमत से घटकर 10 रुपए हो गई।
भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण लिमिटेड (BRBNML) से सूचना के अधिकार से मिली जानकारी के मुताबिक 10 रुपये के नोट को छापने में 96 पैसे की लागत लगती है। 20 रुपये के नोट को छापने में 95 पैसे की लागत लगती है। 50 रुपए के 1000 नोटों की छपाई पर 1,130 रुपए का खर्च पड़ा है। वहीं 100 रुपए के नोटों के लिए 1770 रुपए, 200 रुपए के नोटों के लिए 2370 रुपए का खर्च हुआ है। इसके अलावा 500 रुपए के 1000 नोटों की छपाई पर 2290 रुपए की लागत लगी है।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।