Jansandesh online hindi news

जुर्म का चेहरा- रोचक क्राइम थ्रिलर

 | 
 

जुर्म का चेहरा The Q का पहला ओरिजिनल क्राइम थ्रिलर फिक्शन शो है जो 4 सितम्बर को रात 9 बजे लाइव होगा। इसी समय पर यह हर शनिवार और रविवार को दिखाया जाएगा। क्राइम करने के तरीके समय के साथ बदलते हैं। साइबर-क्राइम, डेटिंग ऐप फ्रॉड, आइडेंटिटी की चोरी, बच्चों की पोर्नोग्राफी, सेंधमारी, हिंसा, सेक्स या ड्रग्स, रोड रेज, मानव तस्करी, आदि वर्तमान काल में चल रहे क्राइम के तरीकों में से हैं। ऐसी दुनिया में रहते हुए जहां तेजी से सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक और तकनीकी परिवर्तन हो रहे हैं, हम सभी पीड़ित या अपराधियों से घिरे हो सकते हैं।

JKC

क्राइम में बेहद रूचि होना कुछ अजीब नहीं है। हम ऐसे समय में जी रहे हैं जब क्राइम को लेकर जबरदस्त कंटेंट उपलब्ध है। डॉक्युमेंट्रीज से लेकर पॉडकास्ट, टीवी शो और किताबें, टीवी क्राइम शोज पिछले कुछ सालों में दुनिया में सबसे पॉपुलर शोज में से एक बन चुका है। क्राइम, सबसे पसंद की जाने वाली, पॉपुलर और शायद सबसे ज्यादा देखे जाने वाली शैली बन गई है। इसी के साथ इसका विकास भी हुआ है। क्राइम शोज को अधिकतर रहस्य, नाटक और रोमांच के साथ परोसा जाता है और अधिकतर यूजर्स को यह पसंद आता है। हर बार जब एक नई क्राइम मूवी या शो रिलीज होता है तो यह किसी भी प्लेटफार्म पर सबसे ज्यादा देखे जाने वाले शो टाइटल के टॉप-10 में तो आसानी से जगह बना लेता है। 

The Q चैनल पर आने वाला ऐसा ही एक रोमांचक क्राइम शो है- जुर्म का चेहरा- अब क्राइम होगा बेनकाब। जुर्म का चेहरा The Q चैनल का पहला ओरिजिनल क्राइम फिक्शन शो है। यह 4 सितम्बर को रात 9 बजे लाइव होगा। इसके बाद आप इसे इसी समय पर हर शनिवार और रविवार को देख पाएंगे। तो पॉपकॉर्न लेकर इस रोमांच से भरपूर क्राइम शो को देखने के लिए तैयार हो जाएं। 

The Q भारत का तेजी से बढ़ता हुआ मनोरंजन चैनल है। यह DD फ्री डिश के साथ-साथ सभी प्लेटफॉर्म्स पर उपलब्ध है। चैनल यूजर्स को अपने साथ जोड़े रखने में कामयाब रहा है क्योंकि इस पर अलग-अलग शैली में काफी अच्छा कंटेंट उपलब्ध है। इसी को आगे बढ़ाने और अधिक मजबूत करने के लक्ष्य से The Q चैनल अपने दर्शकों के लिए अपना पहला टीवी ओरिजिनल- जुर्म का चेहरा लेकर आया है। 

इसे जाने-माने अभिनेता किंशुक वैद्य द्वारा होस्ट किया गया है जिससे दर्शक आसानी से शो के साथ शुरू से अपना जुड़ाव महसूस करेंगे। यह दर्शकों के लिए हर एपिसोड में दिलचस्प केस लेकर आएगा। इसमें भारत में होने वाले घिनौने रूप के केसेस देखने को मिलेंगे जिसमें ऑनलाइन फ्रॉड, साइबर क्राइम से लेकर रोजाना होने वाले क्राइम सम्मिलित होंगे।   

क्या आप किसी को देखकर बता सकते हैं कि वो अपराधी है? नहीं न। अपराधी हमारे आस-पास भी मौजूद हो सकते हैं। अपराधी का कोई चेहरा नहीं होता, वो कोई ऐसा भी हो सकता है जिसे हम जानते हों। जुर्म का चेहरा आधुनिक युग के अपराध से प्रेरित है और इससे दर्शकों के बीच जागरूकता पैदा करने का प्रयास किया जाएगा। 

लॉन्च के हफ्ते में आने वाला एपिसोड 'जहर' एक के बाद एक हत्याओं के पीछे दिल दहला देने वाला सस्पेंस खोलेगा। पुलिस को एक युवक का शव मिलता है, जांच से पुलिस को कई संदिग्धों के बारे में पता चलता है, लेकिन वह तब भौचक्की रह जाती है जब उन्हीं में से एक को बेहद बेरहमी से मार दिया जाता है। हैरान पुलिस वालों का मन एक बार फिर सवालों से घिर जाता है। आगे क्या होगा? क्या अपराधी दोबारा किसी की हत्या करेगा? यह कहानी हर मोड़ पर आपके अंदर के जासूस को जगाती है और आपको बांधे रखती है। 

वहीं, दूसरा एपिसोड 'मजबूरी' थोड़ा हटके है। इसमें आधुनिक युग के क्राइम पर फोकस किया गया है जैसे कि - एटीएम फ्रॉड। एटीएम चोरी के बढ़ते हुए मामलों के कारण लोकल पुलिस परेशान हो जाती है। इससे जुड़ी मौत, पुलिस कैसे इस रहस्य को सुलझाती है, हैरान करने वाले खुलासे और हत्या का कनेक्शन, यह सब आपको बेहद उत्सुक रखेगा और यह एपिसोड देखते समय आपको सीट से उठने का मन नहीं करेगा। 

एक बार आपने यह क्राइम शो देखना शुरू कर दिया तो फिर आप इसे देखना बंद नहीं कर पाएंगे। आपके आस-पास कुछ भी चल रहा हो लेकिन इसकी रोचकता आपको बांधे रखेगी। हर एपिसोड में दिलचस्प रहस्य, ट्विस्ट और उम्मीद से परे खुलासे होंगे। कोई भी जिसे रहस्य सुलझाने में दिलचस्पी होगी, उसे यह क्राइम शो बेहद पसंद आने वाला है। अगर आप जानना चाहते हैं कि ये अपराधी इस हद तक क्यों गए तो तैयार हो जाएं 'जुर्म का चेहरा' देखते हुए आर्मचेयर जासूस बनने के लिए और देखें क्या आप राज खुलने से पहले अपराधी को पकड़ पाते हैं या नहीं।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।