भारत की सबसे सुंदर घूमने वाली जगह जाने जाने के बाद मिलता है सुकून

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. स्वास्थ/लाइफस्टाइल

भारत की सबसे सुंदर घूमने वाली जगह जाने जाने के बाद मिलता है सुकून

भारत की सबसे सुंदर घूमने वाली जगह जाने जाने के बाद मिलता है सुकून


लाइफस्टाइल- आज के समय मे हर कोई घुमने का शौकीन हैं। सभी को लगता है कि वह अपने बलबूते पर पूरी दुनिया की सैर कर ले। लेकिन जब बात यूरोप की आती है तो सभी का दिल धड़कने लगता है हर किसी को यूरोप की खूबसूरती पसन्द आती है।

लेकिन कई बार हमारा बजट नही होता है और हम यूरोप का टूर नही कर पाते हैं। लेकिन अगर आप अपने मन मे यूरोप जाने की सोच रहे हैं तो आप भारत मे भी यूरोप की यात्रा कर सकते हैं और आपको यूरोप के टूरिस्ट प्लेस का मजा मिल सकता है।

कश्मीर-

भारत का कश्मीर राज्य की अगर हम बात करे तो भारत का स्वर्ग कहा जाता है। भारत के लोग कश्मीर घुकने बड़ी चाहो से जाते हैं।यहां मौजूद डल झील और ट्यूलिप गार्डन, गुलमर्ग सबसे अट्रैक्टिव प्वाइंट हैं. इन्हें देखने के लिए भारतीय ही नहीं विदेशी भी यहां बड़ी संख्या में पहुंचते हैं।

गोवा- 

अगर आप यूरोप जाने का मूड बना रहे हैं तो गोवा आपके लिए बेस्ट टूरिस्ट प्लेस साबित हो सकता है। गोवा के नजारे लोगो का खूब ध्यान आकर्षित करते हैं। यहां आज भी मकान यूरोपियन स्टाइल में बने हुए हैं. ये जगह गोवा हवाई अड्डे से कुछ किलोमीटर दूर है और यहां आकर आपको फॉरेन लोकेशन वाली फील आएगी.

अंडमान निकोबार द्वीप समूह:

यह जगह भारत के लोग काफी पसंद करते हैं। यह चारो ओर से समुद्र से घिरी हुई है। हर तरफ पानी और हरियाली ही नजर आती है। आप यहाँ एडवेंचर एक्टिविटी जैसे सर्फिंग, स्कूबा डाइविंग का मजा ले सकते हैं. इसके अलावा आप शांति और सुकून भरी जिंदगी का लुत्फ उठाना चाहते हैं, तो ये जगह आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है.

चित्रकोट फॉल्स: 

इसे भारत के नियाग्रा फॉल्स के रूप में भी जाना जाता है और ये छत्तीसगढ़ में मौजूद है. झरने से गिरते हुए पानी का नजारा मन को मोह लेने वाला है. यहां करीब 100 फीट की ऊंचाई से पानी गिरता है. मॉनसून में यहां की ब्यूटी दोगुनी हो जाती है, इसलिए आपको यहां जुलाई से अक्टूबर के बीच में जाना चाहिए.
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश