कोट और ब्लेजर में होता है ये खास फर्क, बहुत कम लोगों को जानकारी

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. स्वास्थ/लाइफस्टाइल

कोट और ब्लेजर में होता है ये खास फर्क, बहुत कम लोगों को जानकारी

Image


डेस्क। ऑफिस की मीटिंग हो या कोई खास पार्टी फंक्शन हो, आपने लोगों को एक से बढ़कर एक ब्लेजर और कोट पहने हुए जरुर देखा होगा। पर क्या आप इन दोनों के बीच का अंतर जानते हैं? अगर नहीं, तो आज यहां जानें
आपको बता दें बदलते वक्त के साथ लोगों का फैशन सेंस भी पूरा बदल चुका है। वहीं आज एक ही तरह के कपड़े को पुरुष और महिलाएं दोनों ही पहन भी रहे हैं। अब चाहे ये टीशर्ट हो, जूता या कोट हो आप सभी ने बिजनेस मीटिंग और बड़ी-बड़ी पार्टियों में लोगों को कोर्ट और ब्लेजर पहने हुए जरूर देखा होगा, वहीं क्या आप ये जानते हैं कि कोर्ट और ब्लेजर के बीच में क्या अंतर है? बता दें ऐसे बेहद कम लोग हैं जिन्हें इन दोनों के बीच का अंतर पता होगा तो आइए जानते हैं कि इन में क्या अंतर है।
कोट
कोर्ट पुरुषों का जैकेट है जो सूट के ऊपर से पहना जाता है। सूट से यहां मतलब पेंट से है और आमतौर पर कोर्ट के कई डिजाइन होते हैं जैसे कि ट्रेंचकोट, डबल फेस ओवरकोट और पैडेड क्विल्टेड कोट वहीं लोग कोट को विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग भी करते हैं।
ब्लेजर
ब्लेजर भी काफी हद तक दिखने में एक कोट की तरह ही होता है पर, ये एक सूट का हिस्सा नहीं होता। इसे अलग से खरीदना पड़ता है और आप फॉर्मल ओर इनफॉर्मल दोनों प्रकार के पेंट के ऊपर से इसे डाल सकते हैं। ब्लेजर एक कोर्ट से इसलिए अलग है क्योंकि इसमें अधिक कैजुअल कट दिए होते हैं। वहीं ब्लेजर में नौसैनिक शैली के बटन होते हैं और इन्हें ठोस रंग के कपड़ों से बनाया भी जाता है।
दोनों में क्या समानता होती है
-ब्लेजर और कोर्ट दोनों ही आदमियों के लिए डिजाइन किए जाने वाली पोशाक हैं
-दिखने में ब्लेजर और कोर्ट एक ही जैसे लगते हैं।
जानिए क्या है अंतर
-कोट को सूट के ऊपर पहना जाता है वहीं ब्लेजर को आप जींस के ऊपर भी डाल सकते हैं।
-ब्लेजर की अपेक्षा कोर्ट ज्यादा फॉर्मल होता है और इसे बिजनेस मीटिंग और ऑफिशल कामकाज के लिए ज्यादा पहना जाता है। 
-कोट अधिकतर गहरे रंग के होते हैं वहीं, ब्लेजर गहरे और हल्के दोनों ही रंग के होते हैं।
-डिजाइन की बात करें तो ब्लेजर में कैजुअल कट देखने को मिलते हैं जबकि कोर्ट में अनस्ट्रक्चर्ड कट मौजूद होते हैं।
-ब्लेजर मुख्य तौर पर दो तरह के होते हैं सिंगल ब्रेस्ट जो कि 2 बटन के साथ आते हैं वहीं, डबल ब्रेस्ट में 6 बटन होते हैं पर कोर्ट अलग-अलग तरह के होते हैं जिसमें ट्रेंचकोट, डबल फेस ओवरकोट आदि होते हैं।
-सिलाई के रूप से देखें तो ब्लेजर को प्राकृतिक कंधों के साथ बिना कैनवास के सिलवाया भी जाता हैं जबकि, कोर्ट को सूट शोल्डर के साथ सिलवाया जाता है।
-ब्लेजर कोट की अपेक्षा ज्यादा गर्माहट शरीर को प्रदान करते हैं और साथ ही ब्लेजर को लोग ठंड में ज्यादा पहनते हैं जबकि कोट गर्मियों के मौसम में भी मीटिंग्स में पहना जाता है।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश