Jansandesh online hindi news

ओमीक्रॉन से खुद करें बचाव, जानिए आसान टिप्स, जरूर करें फॉलो

नया वैरिएंट ओमिक्रॉन दुनियाभर में खतरा बन चुका अब भारत में भी दस्तक दे चुका है। ओमीक्रॉन वेरियंट कितना खतरनाक हो सकता है। इस बारे में पूरी स्थिति साफ नहीं है। लेकिन फिर भी ओमीक्रॉन को लेकर विशेषज्ञों ने साफ किया है कि ये कोराना वायरस से ज्यादा खतरनाक है । ऐसे में ओमीक्रॉन से बचने के लिए हमको इम्यूनिटी को मजबूत करना सबसे जरूरी है।

 | 
ओमीक्रॉन से खुद करें बचाव, जानिए आसान टिप्स, जरूर करें फॉलो

,ओमीक्रॉन ,

नया वैरिएंट ओमिक्रॉन दुनियाभर में खतरा बन चुका अब भारत में भी दस्तक दे चुका है। ओमीक्रॉन वेरियंट कितना खतरनाक हो सकता है। इस बारे में पूरी स्थिति साफ नहीं है। लेकिन फिर भी ओमीक्रॉन को लेकर विशेषज्ञों ने साफ किया है कि ये कोराना वायरस से ज्यादा खतरनाक है । ऐसे में ओमीक्रॉन से बचने के लिए हमको इम्यूनिटी को मजबूत करना सबसे जरूरी है।

देश के कई हिस्सों में मरीज मिलने से चिंता बढ़ गई है। हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि आज भी पूरा विश्व कोरोना वायरस की समस्या से जूझ रहा है। अभी इस संक्रमण के नए वैरिएंट ने तबाही मचाए हुई है और उसका नाम ओमीक्रॉन है. इस समय हर कोई इस महामारी से काफी सहमा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ अब तक विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस महामारी से बचने के लिए साफ-सफाई व सामाजिक दूरी को अपनाना आवश्यक है।

इस कड़ी में केंद्र सरकार भी नए-नए कदम उठा रही है. कई राज्यों में राज्य सरकार द्वारा रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाया गया है। वहीं चिकित्सकों के अनुसार इस महामारी से घबराने के बजाय सतर्कता एवं सावधानियां बरतने की आवश्यकता है। जी हाँ और सामने आने वाली जानकारी के मुताबिक कोरोना के लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते हैं।

-ठंडे पानी की जगह गुनगुन पानी का सेवन करें.

-उसके बाद अदरक तुलसी और काली मिर्च वाली चाय का सेवन करें.

-खाने में हरी सब्जियां जरूर खाएं जिससे आपकी इम्म्यूनिटी स्ट्रांग हो.

-किसी भी फल का जूस जरूर पीएं, या फिर घर में ही बनाना शेक बना कर पी लें.

इस संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं। वहीं ओमीक्रॉन से ग्रसित होने पर लक्षण कम नजर आते हैं. इसी के चलते दुनियाभर में बहुत सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। अगर सावधानी नहीं बरती तो कोरोना वायरस का नया वेरिएंट घातक भी हो सकता है। आप ओमीक्रॉन से बच सकते हैं.

इन नियमों को अपनाएं :
* साबुन और पानी से हाथ धोएं और एल्कोहल बेस्ड हैंड सेनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
* अपने घर की चीजों को, जैसे डिश, पानी, बर्तन इत्यादि को गंदे हाथों से न छुएं।
* अपने चेहरे पर सर्जिकल मास्क को पहनें, हर 6-8 घंटे में मास्क चेंज करें और उसका निस्तारण सही से करें।
* कहीं भी जाए तो हाथ न मिलाएं, यदि आपको खांसी और बुखार महसूस हो रहा है तो किसी के पास ना जाएं बल्कि खुद को एक कमरे में आइसोलेट करें।

* आप अपनी आंख, नाक और मुंह को स्पर्श न करें, हाथों की हथेलियों में न छींके और न ही खासें।
* ध्यान रहे सार्वजनिक रूप से न थूकें, अनावश्यक यात्रा न करें, विशेषकर प्रभावित इलाकों में तो ना ही जाएं।
* इस दौरान समूह में न बैठें, बड़े समारोहों में भाग न लें अपना ध्यान रखे।
* किसी भी तरह की अफवाह और दहशत न फैलाएं, सतर्कता जरुरी है।
* कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन अवश्य करें।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।