बाढ़ के बाद अब पाक पर बन रहे भुखमरी के आसार

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अंतर्राष्ट्रीय

बाढ़ के बाद अब पाक पर बन रहे भुखमरी के आसार

Image


After the flood, now there is a possibility of starvation on Pakistan

 

डेस्क। पाकिस्तान में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। वहीं पड़ोसी मुल्क के कई जिले पानी में डूब चुके हैं अभीतक करीब 1300 लोगों की मौत हो चुकी है और करोड़ों लोग अपने घर से बेघर हो गए हैं। 

वहीं अब देश की सबसे बड़ी झील में पानी इतना ज्यादा आ गया है कि उस पर किनारे टूटने का खतरा भी पैदा हो गया है। आपको बता दें कि डराने वाली बात यह है कि प्रशासन इसे फटने से रोकने में नाकाम साबित हुआ है और अब उसने हाथ भी खड़े कर दिए हैं।

पाकिस्तान के दक्षिण पूर्वी सिंध प्रांत की मंछर लेक रिकॉर्ड बारिश की वजह से खतरे के निशान से काफी ऊपरबह रही है ऐसी जानकारी मिली है।

यह झील बहुत बड़ा खतरा पैदा ना करे, इस लिए इसको तोड़ने की कोशिश भी की जा रही थी। इस वजह से करीब एक लाख लोगों को उनके घर से हटाया भी गया था। 

प्रांत के सिंचाई मंत्री ने यह बताया है कि पानी के स्तर को कम करने की सभी कोशिशें विफल होती नज़र आ रहीं हैं। इस झील का पानी नीचे आने का नाम नहीं ले रहा।

पाकिस्तान में आधे से ज्यादा फूड सप्लाई सिंध प्रांत से ही होता है ऐसे में बाढ़ की वजह से पहले से ही गरीबी की मार झेल रहे पड़ोसी देश पर भुखमरी की नौबत के भी आसार दिखाई दे रहे है। वहीं बाढ़ की वजह से 1300 से ज्यादा लोगों की मौत भी हुई, जिनमें 450 से ज्यादा बच्चे हैं और ऐसा माना जा रहा है कि बाढ़ की वजह से 1000 करोड़ डॉलर का नुकसान भी हो चुका है।

जान लीजिए कि सिंध प्रांत में स्थित मंछर झील सिंधु नदी से निकलने वाली झील है। इसका आकार मौसम और बारिश के हिसाब से बदलता जाता है।  सिंध और बलूचिस्तान का पूरा क्षेत्र इस समय एक विशाल तालाब के रूप में नजर आ रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से पाकिस्तान में इतना बुरा हाल हुआ है और भीषण बारिश के साथ हिमालयी ग्लेशियर के पिघलने से पाक में इतनी ज्यादा मात्रा में पानी आ गया है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश