क्या 5G और मोबाइल की वजह से हुआ नेपाल विमान हादसा

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अंतर्राष्ट्रीय

क्या 5G और मोबाइल की वजह से हुआ नेपाल विमान हादसा

क्या 5G और मोबाइल की वजह से हुआ नेपाल विमान हादसा


नेपाल में हुए भीषण विमान हादसे ने सभी को दहला कर रख दिया है। विमान में सवार 72 लोगों की मौत से विश्व सहम गया है। इस हादसे में 4 लोग भारत के भी मरे हैं। वहीं अब यह रिसर्च जारी है कि आखिर इतना बड़ा हादसा हुआ कैसे और क्या ऐसा हुआ कि ट्रेड पायलट भी स्थिति को संभाल पाने में नाकाम रहा।
वहीं इस समय सोशल मीडिया पर इस हादसे का लाइव वीडियो वायरल हो रहा है। लोग दावा कर रहे हैं कि विमान में स्मार्टफोन के उपयोग की वजह से यह हादसा हुआ है। वहीं कई लोगों का कहना है कि हादसा 5g तकनीकी के कारण हुआ है।

जानें क्यों फ्लाइट में नहीं इस्तेमाल किया जाता है मोबाइल-

जब आप विमान यात्रा करते हैं। तो आपको उड़ान भरने से पूर्व यह निर्देश दिए जाते हैं कि आप अपने फोन को या तो बन्द कर दें या उसे फ्लाइट मोड़ पर लगा दें। क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो पायलट को सिग्नल और टट्रैफिक देंखने में समस्या आती है और विमान दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है। लोग ऐसा ज्यादातर सुरक्षा के मद्देनजर करते हैं।
वहीं 5G के दावे को सही नहीं माना जा सकता है। क्योंकि यह तकनीकी फ्लाइट में इस्तेमाल की जाती है।बता दें कि 5G C-बैंड फ्रिक्वेंसी पर विमान को रेडियो सिग्नल मिलते हैं. इससे प्लेन और जमीन के बीच की दूरी को कैलकुलेट किया जाता है. इससे धुंध, बर्फ और बरसात के समय लैंडिंग में काफी मदद मिलती है।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश