इमरान खान ने की भारत की तारीफ, अमेरिका और रूस से रिश्तों पर भी बोले

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अंतर्राष्ट्रीय

इमरान खान ने की भारत की तारीफ, अमेरिका और रूस से रिश्तों पर भी बोले

Image


डेस्क। पकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर भारत की विदेश नीति की तारीफ करी है। वहीं पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष खान ने शनिवार को अपने 'लॉन्ग मार्च' को वर्चुअल संबोधित करते हुए यह भी कहा है कि भारत की विदेश नीति स्वतंत्र रही है।
रूस से तेल खरीदने के भारत के फैसले के बारे में बोलते हुए खान ने यह है कहा कि, "मुझे भारत का उदाहरण लेना चाहिए। वहीं देश हमारे साथ स्वतंत्र हुआ और अब उनकी विदेश नीति को देखें साथ ही वह एक स्वतंत्र विदेश नीति को फॉलो करता है। भारत अपने फैसले के साथ खड़ा रहा कि रूस से ही तेल खरीदेगा और उसने ऐसा किया भी।''
यूक्रेन युद्ध के बीच पश्चिम के दबाव के बावजूद मोदी सरकार द्वारा अपने राष्ट्रीय हितों के चलते रूसी तेल की खरीद की सराहना करते हुए इमरान खान ने कहा है कि भारत और अमेरिका क्वाड सहयोगी हैं वहीं अपने नागरिकों के हित के लिए भारत रूस से तेल खरीद रहा है। साथ ही आपको मालूम हो कि पिछले हफ्ते, अमेरिका के ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन ने कहा था कि भारत जितना चाहे उतना रूसी तेल भी खरीद सकता है।
आपको बता दें देश में जल्दी चुनाव कराने के लिए पाकिस्तान में लॉन्ग मार्च का नेतृत्व कर रहे इमरान खान ने कई बार भारत और भारत की विदेश नीति की तारीफ करी है। वहीं खान ने पिछले महीने भी भारत की विदेश नीति की सराहना करते हुए कहा था कि भारत रूस से तेल आयात कर रहा है और पाकिस्तान पश्चिम का गुलाम बन चुका है, क्योंकि वह अपने नागरिकों के कल्याण के लिए निडर निर्णय लेने में असमर्थ भी है। 
क्या आप जानते हैं कि इस महीने की शुरुआत में इमरान खान ने मोदी सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा था कि उसके अमेरिका के साथ काफी अच्छे संबंध हैं।
वहीं, अब क्रूड ऑयल को लेकर पाकिस्तान भी भारत के रास्ते पर चलने पर विचार भीं कर रहा है। वहीं पाकिस्तानी मंत्री ने अमेरिका पर निशाना साधते हुए हाल ही में कहा है कि वह पाकिस्तान को रूस से तेल खरीदने से नहीं रोक सकता। और बीते दिनों पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा था कि अमेरिका पाकिस्तान को रूसी तेल खरीदने से नहीं रोक सकता और ऐसा जल्द ही संभव भी होगा। 

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश