दो जून की रोटी के लिए संघर्ष कर रहा पाकिस्तान

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. अंतर्राष्ट्रीय

दो जून की रोटी के लिए संघर्ष कर रहा पाकिस्तान

Image


डेस्क। पाकिस्तान आर्थिक (Pakistan Economic Crisis) रूप से अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है और घटते विदेशी मुद्रा भंडार और बढ़ते कर्ज ने पाकिस्तान की अर्थव्यस्था को बर्बादी के कगार पर ला कर खड़ा किया है।
पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई का अलाम ये है कि कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत (Pakistan LPG Price) 10,000 पाकिस्तानी रुपये तक जा चुकी है। साथ ही पाकिस्तान की सरकार भी यह मान चुकी है कि देश में स्थिति बहुत गंभीर है। वहीं पाकिस्तान से भारत में भी कई चीजें आती हैं और इनमें ताजे फल, सीमेंट और चमड़े के सामान भी शामिल हैं और भारत में इन चीजों की डिमांड भी काफी बनी रहती है।
ड्राइफ्रूट्स, तरबूज और अन्य फलों का आयात
साल 2017 में भारत ने पाकिस्तान से 488.5 मिलियन डॉलर की कीमत के सामानों का आयात भी किया था। साथ ही इनमें ड्राइफ्रूट्स, तरबूज और अन्य फल भी थे। इसी के साथ पाकिस्तान के ताजे फलों के लिए एक बड़ी मार्केट भी है और रिपोर्ट्स के अनुसार, 2017 में भारत ने 89.62 मिलियन डॉलर (63 करोड़) के फल पाकिस्तान से आयात भी किए थे। साथ ही पाकिस्तान से आने वाले फल कश्मीर के रास्ते राजधानी दिल्ली की मार्केट तक पहुंचते हैं। 
पाकिस्तान से भारत में आती हैं ये 10 चीजें
ड्राइफ्रूट्स, तरबूज और अन्य फल
सीमेंट
सेंधा नमक
पत्थर
चूना
चश्मों का ऑप्टिकल्स
कॉटन
स्टील
कार्बनिक केमिकल्स और मेटल कंपाउंड
चमड़े का सामान, आदि।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश