मंदी हो या महामारी कभी नहीं बंद होंगे ये व्यवसाय, हमेशा मिलेगा प्रॉफिट

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. खास खबर

मंदी हो या महामारी कभी नहीं बंद होंगे ये व्यवसाय, हमेशा मिलेगा प्रॉफिट

Image


डेस्क। कोरोना के बाद से दुनियाभर के कई देशों में खाने के लाले पड़े हैं। वहीं हर कोई बढ़ती महंगाई से परेशान है। अमेरिका से लेकर भारत तक इसका दुष्प्रभाव देखने को मिला है। वहीं मंदी के चलते तमाम सेक्टर्स का कारोबार भी प्रभावित हो रहा है।
प्राइवेट सेक्टर्स में नौकरी-पेशा करने वाले कर्मचारियों पर इसकी सबसे ज्यादा मार पड़ती नजर आई है।
कंपनियां एक के बाद एक कमर्चारियों की छटनी करने में लगी हैं। वहीं अगर आपकी भी इस मंदी के दौर में नौकरी चली गई है तो परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। आज हम आपको कम लागत में 4 ऐसे बिजनेस का आइडिया देने जा रहे हैं, जिन पर मंदी का भी असर नहीं पड़ता है। यह बिजनेस के आइडिया आपकी जिंदगी में खुशहाली ला देंगे। वहीं कितना भी बुरा वक्त क्यों न चल रहा हो लेकिन इन बिजनेस से आपकी इनकम जारी रहेगी।
मेडिकल स्टोर और हॉस्पिटल
भले ही कितनी बड़ी मंदी हो पर मेडिकल स्टोर और हॉस्पिटल का बिजनेस हमेशा ही चलता रहेगा। एक बार लोग ट्रैवलिंग और एंटरटेनमेंट की गतिविधियों पर ब्रेक लगा सकते हैं, पर बीमारियों पर नहीं। बीमारियों या फिर किसी भी तरीके की स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें होने पर लोग अस्पताल जाने और दवाईयां लेने के लिए मजबूर भी हो जाते हैं। इसके अलावा मेडिटेशन और योग करना भी स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए बहुत जरूरी हो जाता है। इन सबके लिए बिना कॉम्प्रोमाइज किए लोग खर्च करने पर मजबूर भी होते हैं। अगर आप एक मेडिकल स्टोर या हॉस्पिटल चलाते हैं तो आपका बिजनेस मंदी से कभी भी प्रभावित नहीं होगा। वहीं अगर आप इन सेक्टर्स में नौकरी करते हैं तो भी आपकी नौकरी हमेशा चलती ही रहेगी।
किराना स्टोर्स
एक बार इंसान नए-नए कपड़े पहना, गाड़ियों में धूमना या अन्य चीजों में फिजूल खर्च करने से बच सकता हैं, पर खाने के लिए तो उन्हें मजबूरन खर्च करना ही पड़ता है। वहीं घर की रसोई की जरूरी चीजों को खरीदना ही होगा, चाहे फिर मंदी हो या कोई महामारी की हो। आटा, चावल, दूध, दही हो या फिर तेल, साबुन शैंपू जैसी रोजमर्रा की चीजें खरीदने के लिए लोग किराना स्टोर्स पर जरूर जाते हैं। साथ ही ऐसे में अगर आप किराना स्टोर चलाते हैं तो आप पर किसी भी परिस्थिति में मंदी का असर नहीं दिखेगा।
होम मेंटिनेंस या होम शिफ्टिंग
वैसे तो आमतौर पर लोग मंदी के दौर में नया मकान बनाने, खरीदने और मरम्मत करवाने से बचते रहते हैं, पर मंदी के दौर में महंगे-महंगे घरों में रहने वाले लोग सस्ते घरों में शिफ्ट होते ही रहते हैं। भले ही मंदी के दौर में जमीन, फ्लैट या मकानों की बिक्री में गिरावट आती ही है, पर पुराने घरों या फ्लैट्स में मरम्मत का काम चलता ही रहता है। इसलिए अगर आप मकानों की मरम्मत से जुडे हैं या फिर होम शिफ्टिंग से जुड़े हैं तो मंदी के दौर में भी आपका घर चलता रहेगा। 
ऑटो रिपेयरिंग और मेंटेनेंस
भले ही लोग मंदी के दौर में नया वाहन ना खरीदें, पर अगर उनके पास पुराना वाहन है तो अपना काम चलाने के लिए उसे ठीक करवाने के लिए रिपयेर या मेंटेनेंस वाले का सहारा जरूर लेंगे। वहीं कार-बाइक में आई खराबियों को दूर कराने से मिस्त्री यानी कारीगर की कमाई में इजाफा भी होगा। पुरानी गाड़ी के मेंटेनेंस से जुड़ा धंधा मंदी के दौर में भी चलता ही रहता है।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश