Jansandesh online hindi news

कल है इन पाँच ग्रहों को नंगी आखों से देखने का बड़ा मौका, इतने सालों बाद अंतरिक्ष में होने वाला है ये

 | 
Image

 

बता दें कि आसमान में शुक्रवार 24 जून को करीब 18 साल बाद एक दुर्लभ नजारा देखने को मिलेगा क्योंकि कल सौर मंडल के पांच गृह एक साथ सीधे लाइन में आपको नंगी आखों से नजर आने वाले हैं। 

बता दें इससे पहले दिसंबर 2004 में ऐसा खूबसूरत नजारा देखा गया था जब बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति और शनि एक साथ लाइन में नजर आए थे। स्काई एंड टेलिस्कोप मैगजीन की एक रिपोर्ट के मुताबिक तीन ग्रहों के संयोजन को देखना बहुत ही आम बात होती है मगर पांच गृहों को देखना बहुत दुर्लभ माना जाता है क्योंकि ऐसा कई सालों में एक बार होता है।

24 जून को एक ही लाइन में नजर आएंगे ग्रह

अमेरिकन एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी द्वारा प्रकाशित साइंस मैगजीन के मुताबिक ग्रह सूर्य से प्राकृतिक क्रम में लाइनिंग कर रहे हैं जो अपने आप में बेहद ही आश्चर्यजनक होगा। रिपोर्ट्स में सौर मंडल के ये पांच ग्रह तीन और चार जून को दिखाई देने वाले थे और लाइनअप में इन्हें दूरबीन के साथ देखा जा सकता था। मगर कल यानी कि 24 जून ये ग्रह एक बार फिर एक ही लाइन में नजर आएंगे। जानकारी के अनुसार इसमें बुध ग्रह को देखना बेहद आसान होने वाला है।

कब देख सकते हैं ये नजारा

रिपोर्ट के अनुसार इन ग्रहों के संगम को देखने का सबसे ठीक समय शुक्रवार सुबह होगा वोभी जब सुबह सूर्य की रोशनी पूरी तरह आसमान में फैली न हो तब इन ग्रहों को साफ नंगी आंखों से देखा जा सकेगा।  रॉयल म्यूजियम ग्रीनविच के डॉक्टर ग्रेग ब्राउन ने बताया कि पांचों ग्रहों को देखने का एकमात्र मौका कल सुबह सूरज निकलने से पहले बहुत कम समय के लिए रहने वाला है। 

उन्होंने यह भी बताया कि ब्रिटेन के समय के मुताबिक शुक्र और बृहस्पति को देखना सबसे आसान होने वाला है।

इस समय दिखाई देगा शुक्र ग्रह

Image

शुक्र ग्रह सुबह चार बजे के आसपास दिखाई देने वाला है। मंगल, बृहस्पति करीब तीन बजे क्षितिज में दिखाई देंगे। 

इन्हें कैसे देखें ?

स्काई वॉचिंग एक्सपर्ट्स ने इन ग्रहों को सुबह में दक्षिण-पूर्व क्षितिज की तरफ देखने की सलाह दी है। कल अगर मौसम साफ रहा तो इन ग्रहों को आसानी से नंगी आखों से देखा जा सकता है। 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।