आप भी करते हैं ट्रेन से सफर, जान लीजिए लोवर बर्थ को लेकर रेलवे का ये नियम

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. खास खबर

आप भी करते हैं ट्रेन से सफर, जान लीजिए लोवर बर्थ को लेकर रेलवे का ये नियम

Image


You also travel by train, know this railway rule regarding lower berth

डेस्क। भागदौड़ भरी इस जिंदगी में ट्रेन का सफर काफी सहूलियत भरा होता है। वहीं ट्रेन में सफर करने वालों की लंबी लाइन होती है। इस भीड़ भी स्तिथि में सीनियर सिटीजंस के लिए  सफर बहुत मुश्किल है। अगर किसी कारण के चलते रेलवे किसी वरिष्ठ नागरिक को अपर बर्थ टिकट दे भी देती है तो उसके लिए अपर बर्थ में सफर करना बेहद ही मुश्किल होता है।

हाल के दिनों में ऐसा ही एक मामला सामने आया है जब रेलवे ने एक गठिया के रोग से ग्रषित बुजुर्ग को अपर बर्थ की टिकट दी। जिसके बाद जो हुआ वो आपको हैरत में डाल देगा।

जब यह मामला सोशल मीडिया पर आया तो विवाद खड़ा होने लगा। जिसको लेकर रेलवे ने कहा कि, भारतीय रेलवे की कम्प्यूटरीकृत आरक्षण प्रणाली में सीनियर सिटीजंस और 45 साल से ज्‍यादा उम्र की महिला यात्रियों को ऑटोमेटिक लोअर बर्थ अलॉट कर दिया जाता है।

भले ही आपने कोई विकल्‍प सिलक्‍ट ना किया हो। अगर सीनियर सिटीजंस के साथ कोई और भी यात्रा कर रहा है जो वरिष्ठ नागरिकों की कैटेगरी में नहीं आता तो रेलवे इन मामलों में लोअर बर्थ देने पर विचार नहीं करती।

बता दें कि  रेलवे ने सीनियर सिटिजंस के लिए टिकट बुकिंग में कोटा अलग से निर्धारित कर रखा है। इसके मुताबिक स्लीपर क्लास में हर कोच में छह लोअर बर्थ और एसी 3 टियर और एसी 2 टियर क्लास में हर कोच में तीन लोअर बर्थ का कोटा सीनियर सिटीजंस के रिज़र्व रहता है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश