भारत में हर चौथे इंसान को नौकरी की चिंता: सर्वेक्षण

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. रोजगार

भारत में हर चौथे इंसान को नौकरी की चिंता: सर्वेक्षण

Image


डेस्क।अगर आप भी किसी कंपनी ने नौकरी करते हैं और अर्थव्यवस्था में आने वाले बदलाव को लेकर नौकरी छूट जाने की चिंता है तो आपके लिए यह खबर बेहद ही जरूरी हो सकती है।
मार्केटिंग डेटा और एनालिटिक्स फर्म कंटार ने हाल में ही एक सर्वे भी किया है, जिसके मुताबिक, चार में से एक भारतीय नौकरी छूटने के खतरे को लेकर चिंतित भी है। वहीं, चार में से तीन बढ़ती महंगाई को लेकर काफी चिंतित हैं। भारत के केंद्रीय बजट सर्वेक्षण के अपने दूसरे एडीशन में कंटार ने कई और बातों का खुलासा भी किया है।
सर्वे में सामने आई ये बातें
कंटार द्वारा किये गए सर्वे में यह भी पाया गया है कि सर्वे में शामिल लोगों में से आधे का यह मानना है कि 2023 में देश की अर्थव्यवस्था बढ़ेगी। वहीं महानगरों की तुलना में गैर-महानगर अधिक आशावादी भी हैं। वहीं, कंटार का मानना है कि यह मंडी की ओर रुख भी कर सकती है। साथ ही, उपभोक्ता आयकर के संबंध में नीतिगत बदलावों की घोषणा की उम्मीद भी की जा रही है। बता दें इसमें 2.5 लाख रुपये की बुनियादी आयकर छूट को बढ़ाकर पांच लाख रुपये तक होने की उम्मीद भी है।
इन लोगों को नौकरी छूटने का ज्यादा है खतरा
जारी सर्वे के मुताबिक, चार में से हर एक भारतीय नौकरी की छंटनी के खतरे से भी चिंता में है। वहीं इसमें यह 36-55 वर्ष के लोगों में 30 प्रतिशत लोग इस बात से चिंता में है। वहीं, वेतनभोगी वर्गों में 30 प्रतिशत लोगों को इस बात का खतरा भी है।
किन शहरों में किया गया है सर्वे
इस सर्वेक्षण में 12 प्रमुख भारतीय शहरों को शामिल किया गया है, जिसमें मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, पुणे में 21 से 55 वर्ष के बीच के काम करने वाले 1,892 उपभोक्ताओं के बीच सर्वे भी किया जा चुका है। यह सर्वे 15 दिसंबर, 2022 से 15 जनवरी, 2023 तक हैदराबाद, बैंगलोर, अहमदाबाद, इंदौर, पटना, जयपुर और लखनऊ में आयोजित भी किया गया था।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश