80 हजार कर्मचारियों को मिलने जा रही प्रमोशन की सौगात, भारतीय रेलवे ने दी खुशखबरी

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

80 हजार कर्मचारियों को मिलने जा रही प्रमोशन की सौगात, भारतीय रेलवे ने दी खुशखबरी

Image


डेस्क। Railway News : रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि अब लेवल 6 के कर्मचारी लेवल 7 और 8 तक आसानी से पहुंच पाएंगे। इससे रेलवे पर आर्थिक रूप से कोई भार भी नहीं पड़ेगा।
Railway News : रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आज रेल कर्मचारियों के लिए बहुत बड़ी ख़ुशख़बरी दे डाली है। वहीं रेल मंत्री ने रेलवे के सुपरवाइज़र ग्रेड यानी ग्रेड 7 के अंतर्गत आने वाले रेलवे के 80 हज़ार कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर दी है और यह बताया गया कि मौजूदा व्यवस्था में इन कर्मचारियों का प्रमोशन नहीं हो पाता था और अगर होता भी था तो ये बहुत मुश्किल हो पाता था। 
रेल मंत्री ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बताया कि इस समस्या को दूर कर लिया गया है वहीं रेल मंत्री ने यह बताया कि रेलवे में अस्सी हज़ार का कैडर है, जो रेलवे की रीढ़ बना हुआ है। इसमें स्टैगनेशन की समस्या भी बनी हुई थी और उनको प्रमोशन नहीं मिल पाता था वहीं इस समस्या का हल निकाला गया है। 
उन्होंने यह भी जानकारी दी कि अब लेवल 6 के कर्मचारी लेवल 7 और 8 तक पहुंच सकेंगे और कुछ लोग लेवल 9 तक भी पहुंच सकेंगे वहीं ग्रुप A के अधिकारियों के समकक्ष तक पहुंच सकेंगे। इससे रेल परिवार में बहुत ख़ुशी आती दिख रही है। इससे पहले रेल कर्मचारियों के भीतर प्रमोशन न होने के कारण काफ़ी डिप्रेशन रहा करता था। इससे काम भी बहुत प्रभावित होता था।
रेल मंत्री ने यह बताया कि सुपरवाइज़र ग्रेड लेवल 6 में आते हैं और इनमें स्टेशन मास्टर, जूनियर इंजीनियर, पाथ वे इन्स्पेक्टर आदि होते हैं। ये डिप्टी डायरेक्टर से नीचे की पोस्ट होती हैं और इस नए फ़ैसले से हर महीने ढाई से चार हज़ार रुपये महीने का फ़ायदा प्रति कर्मचारी को होता है। वहीं कुछ खर्चे कम हुए हैं, उनकी जगह ये फ़ायदा जरुर दिया जाएगा।
 इससे रेलवे पर आर्थिक रूप से कोई भार नहीं पड़ने वाला। वहीं इसमें कोई एलिजिबिलिटी आदि चेक नहीं की जानी है बल्कि सभी अस्सी हज़ार कर्मचारियों को इसका फ़ायदा मिलेगा ही मिलेगा। ये बहुत बड़ा मॉरल बूस्टर साबित होगा है। 
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश