बीजेपी के कार्यकाल में इस योजना के टूट गए सभी रिकॉर्ड

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

बीजेपी के कार्यकाल में इस योजना के टूट गए सभी रिकॉर्ड

Image


डेस्क। नरेंद्र मोदी सरकार में लाखों लाभार्थियों के बैंक खाते में पैसा सीधा ट्रांसफर होने का जबरदस्त रिकॉर्ड बनाया गया है। वहीं साल 2014 से अब तक डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) स्कीम का आंकड़ा 25 ट्रिलियन (खरब) रुपये को पार भी कर चूका हैं। 
आपको यह भी बता दें कि इस स्कीम से नए-नए लाभार्थी जुड़ने की वजह से डीबीटी ट्रांसफर साल दर साल लगातार बढ़ ही रहा है।
जहां साल 2019-20 में डीबीटी स्कीम के तहत 3 ट्रिलियन रुपये ट्रांसफर किए गए वहीं साल 2021-21 में यह मात्रा बढ़कर 5.5 ट्रिलियन रुपये हो गया, साथ ही आखिरी वित्तीय वर्ष में यह 6.3 ट्रिलियन हो गया है। इसके साथ ही मौजूदा वित्तीय वर्ष के छह महीने से कम समय में ही 2.35 ट्रिलियन रुपये लाभार्थियों के खातों में जमा भी किए गए हैं।
आपको अंदाजा हो ही गया होगा कि इसका अर्थ यह है कि साल 2014 से शुरू हुई डीबीटी स्कीम में 56 फीसदी ट्रांसफर पिछले ढाई साल में पूरा हुआ पाया है वहीं सरकार इस स्कीम को आपदा में लोगों की मदद का अहम जरिया भी बनाने में लगी है। इसके अलावा बता दें कि खासकर साल 2020 के मार्च में आई कोरोना महामारी में इसे बेहतर रूप से इस्तेमाल किया गया।
एक अधिकारी ने यह भी बताया है कि डीबीटी कोविड में लोगों की रक्षक थी। उन्हें सरकार से पैसा सीधे उनके बैंक खाते में मिला करता था। पर अंतिम वित्तीय वर्ष में करीब 73 करोड़ लोगों ने डीबीटी स्कीम का नगद में फायदा उठाया है जबकि 105 करोड़ लोगों ने दूसरे जरियों से डीबीटी का लाभ उठाया हुआ है।
इसके साथ ही सरकार यह भी दावा करती है कि डीबीटी स्कीम से 2.2 ट्रिलियन रुपये गलत हाथों में जाने से बचा लिए हैं साथ ही सरकार ने बैंक अकाउंट को आधार से लिंक कराया है ताकि इस रकम का गलत इस्तेमाल न किया जा सके।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश