दिल्ली में नहीं होगी सेना दिवस की परेड, जानिए कहां होगा भव्य आयोजन

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

दिल्ली में नहीं होगी सेना दिवस की परेड, जानिए कहां होगा भव्य आयोजन

Image


डेस्क। भारतीय सेना ने हर साल 15 जनवरी को दिल्ली में आयोजित होने वाली सेना दिवस परेड को राष्ट्रीय राजधानी के बाहर स्थानांतरित करने का फैसला लिया है। अगले साल की सेना दिवस परेड दक्षिणी कमान क्षेत्र में होगी ऐसी जानकारी है।
भारतीय सेना के अधिकारियों ने एएनआई को यह बताया है कि, ‘भारतीय सेना ने 15 जनवरी को दिल्ली में आयोजित वार्षिक सेना दिवस परेड को राष्ट्रीय राजधानी के बाहर स्थानांतरित करने का फैसला भी किया है। वहीं 2023 की सेना दिवस परेड दक्षिणी कमान क्षेत्र में आयोजित की जानी जाएगी।’
भारतीय वायु सेना (IAD) ने भी हाल ही में इस साल दिल्ली के पास हिंडन एयर बेस से चंडीगढ़ के लिए अपना वार्षिक फ्लाई-पास्ट और परेड आयोजित किया था। सेना के अधिकारियों ने कहा कि परेड अब अलग-अलग स्थानों पर बारी-बारी से आयोजित की जाएगी और हर साल जगह भी बदली जाएगी।
आपको बता दें, पिछले आठ वर्षों में प्रधानमंत्री ने अहमदाबाद और चेन्नई जैसे विभिन्न शहरों में विदेशी गणमान्य व्यक्तियों की मेजबानी करना शुरू कर दिया है और अन्य राज्यों में सैन्य प्रदर्शनी DefExpo जैसे कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसका मुख्य उद्देश्य देश भर के लोगों के साथ गहरा जुड़ाव पैदा करना और शासन को जनता के करीब लाने का है।
देश में हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस भी मनाया जाता है। इस दिन दिल्ली के करियाप्पा परेड मैदान में विशेष परेड का आयोजन किया जाता है। सेना के अत्याधुनिक हथियारों और टैंक-मिसाइल जैसे साजो-सामान भी प्रदर्शित किए जाते हैं।
आपको बता दें, साल 1942 में भारतीय सैन्य अफसरों को एक यूनिट कमांड करने का मौका मिला था, पर 15 जनवरी 1949 को फील्ड मार्शल केएम करियप्पा ने जनरल फ्रांसिस ब्रुचर से भारतीय सेना की कमान संभाली थी। भारतीय सेना को दुनिया की सबसे ताकतवर सेना में से एक माना जाता है।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश