केेंद्र सरकार ने बैन किए 6 यूट्यूब चैनल, फैलाते थे फेक न्यूज़

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

केेंद्र सरकार ने बैन किए 6 यूट्यूब चैनल, फैलाते थे फेक न्यूज़

Image


डेस्क। केंद्र सरकार ने एक बार फिर फेक न्यूज फैलाने और भ्रामक जानकारी देने वाले यूट्यूब चैनलों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी करी है। साथ ही सरकार ने इस मामले में गुरुवार को छह यूट्यूब चैनलों को बैन भी कर दिया है।
वहीं इन चैनलों पर फर्जी खबर भी चलाई जा रही थी और लोगों को गुमराह किया जा रहा था। साथ ही ब्लॉक किए गए सभी चैनलों ने चुनावों, भारत के सर्वोच्च न्यायालय और भारत की संसद में कार्यवाही और भारत सरकार के कामकाज के बारे में गलत खबर और भ्रामक जानकारी भी फैला रहे थे। 
प्रमुख टीवी चैनलों के एंकरों के फोटो का कर रहे थे गलत प्रयोग
पीआईबी की फैक्ट चेक यूनिट ने यह बताया कि ये चैनल लोगों को भरोसा दिलाने के लिए कई प्रमुख टीवी चैनलों के एंकरों की तस्वीर, क्लिकबेट और सनसनीखेज थंबनेल का भी प्रयोग करते थे। चैनलों ने इसका प्रयोग उनके द्वारा डाले गए वीडियो को मोनेटाइज करने और ट्रैफिक लाने के लिए किया था। केंद्र ने इस तरह की यह दूसरी कार्रवाई की है। इससे पहले सरकार ने 20 दिसंबर को बड़ी कार्रवाई भी की थी, जिसमें फर्जी खबर फैलाने वालों तीन चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी।
कौन से हैं ये चैनल 
Nation Tv
Samvaad Tv
Sarokar Bharat
Nation 24
Swarnim Bharat
Samvaad Samachar
पहले भी हो चुकी है इसी प्रकार की कार्रवाई
इससे पहले केंद्र ने फर्जी खबर फैला रहे लाखों सब्सक्राइबर वाले 3 यूट्यूब चैनलों पर शिकंजा भीं कसा था। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के पीआईबी (PIB) विभाग की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक ये सभी चैनल फेक न्यूज फैला रहे थे और इन चैनलों के लगभग 33 लाख सब्सक्राइबर भी थे। इनके वीडियो को 30 करोड़ से अधिक बार देखा भी गया था। इन यूट्यूब चैनल के नाम न्यूज हेडलाइन्स, सरकारी अपडेट और आजतक लाइव हैं।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश