इस कारण से बंद हो जाएगी आपकी पेंशन लागू हुआ नया नियम

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

इस कारण से बंद हो जाएगी आपकी पेंशन लागू हुआ नया नियम

Image


डेस्क। दीवाली सीजन में केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए कई बड़े ऐलान किए है। त्योहार शुरू होने से ठीक पहले महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत में बढ़ोतरी का ऐलान भी हुआ है।
इस कड़ी में केंद्र सरकार ने रेलवे कर्मचारियों के लिए परफॉर्मेंस लिंक्ड इंसेंटिव की घोषणा भी करी है। इन सभी फैसलो से केंद्र सरकार के लाखों कर्मचारियों को फायदा भीं मिला है। वहीं सैलरी और ग्रेच्युटी में बढ़ोतरी के साथ ही रिटायर्ड कर्मचारियों की पेंशन बढ़ाने का फैसला भी हुआ साथ ही बढ़ोतरी का नया नियम केंद्रीय कर्मचारियों के लिए लागू हो चुका है और धीरे-धीरे राज्य सरकारें भी इसे लागू कर रही हैं।
केंद्र सरकार की तरफ से पेंशन और ग्रेच्युटी का लाभ लोगों को मिल रहा है, पर इसका एक नियम याद रखना बेहद जरूरी है। यह ऐसा नियम है जिसकी अनदेखी या अवहेलना आपको भारी पड़ सकती है। यह नियम सेंट्रल सिविल सर्विसेज (पेंशन) रूल्स, 2021 का है जो यह कहता है कि कोई भी सरकारी कर्मचारी अपनी नौकरी के दौरान किसी भी गंभीर गलत कार्य में लिप्त पाया जाता है, वहीं अपनी ड्यूटी से खिलवाड़ भी करता है, तो उसकी पेंशन और ग्रेच्युटी रोक दी जाएगी। वहीं सीसीएस (पेंशन) रूल्स, 2021 के रूल 8 पर सरकार की तरफ से एक नोटिफिकेशन भी जारी किया गया है। 
इस नोटिफिकेशन में संशोधन के बारे में यह भी बताया गया है कि गलती पकड़े जाने पर पेंशन और ग्रेच्युटी का लाभ बंद किया जा सकता है और इसका निर्णय लेने का अधिकार केवल कुछ अधिकारियों को दिया गया है। इन अधिकारियों में राष्ट्रपति, प्रशासनिक विभाग के सचिव, ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया हैं। ये तीनों अधिकारी किसी सरकारी कर्मचारी की पेंशन और ग्रेच्युटी को रोक सकते हैं। 
वहीं 7 अक्टूबर को प्रकाशित संशोधित नियम 8 के अनुसार, ऊपर बताई गई एजेंसियों (अधिकारियों) के पास पेंशन को पूरी तरह से या आंशिक रूप से रद्द करने का अधिकार भी है यदि रिटायर्ड व्यक्ति किसी भी विभागीय या विभाग में “नौकरी की अवधि के दौरान गंभीर कदाचार (मिसकंडक्ट) या गड़बड़ी” का दोषी पाया जाता है तो रिटायरमेंट के बाद की जाने वाली कोई दूसरी नौकरी या सर्विस की भी जांच होगी।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश