आरएसएस के मुख्यालयों की सुरक्षा में तैनात होंगे भारतीय जवान, विवादों को जन्म दे रहा गृह मंत्रालय का यह फैसला

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

आरएसएस के मुख्यालयों की सुरक्षा में तैनात होंगे भारतीय जवान, विवादों को जन्म दे रहा गृह मंत्रालय का यह फैसला

Image


Indian soldiers will be deployed in the security of RSS headquarters, this decision of the Home Ministry giving rise to controversies

डेस्क। भाजपा की केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh, RSS) के कार्यालय को सशस्‍त्र सीआईएसएफ बलों की सुरक्षा मुहैया की है।

आधिकारिक सूत्रों की माने तो सोमवार को मध्य दिल्ली के झंडेवालान में स्थित आरएसएस कार्यालय 'केशव कुंज' और 'उदासीन आश्रम' के पास स्थित कैंप कार्यालय को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल यानी सीआईएसएफ की सुरक्षा से लैस किया गया है। 

वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी परामर्श के आधार पर जल्द ही सीआइएसएफ के जवान इन कार्यालयों की सुरक्षा में मुस्‍तैद नजर दिखाई देंगे।

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के अनुसार, Central Industrial Security Force (CISF) के जवान दो भवन परिसरों के प्रवेश और निकास को नियंत्रित करने का काम करेंगे। परिसर को सुरक्षित करने के लिए गार्डों को भी तैनात किया जाना है। वहीं आधिकारिक सूत्रों ने यह भी बताया है कि केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने दिल्‍ली स्थित आरएसएस कार्यालयों की सुरक्षा को लेकर गोपनीय इनपुट केंद्रीय गृह मंत्रालय को दिए और इन्‍हीं इनपुट के आधार पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आरएसएस के परिसर की सुरक्षा के लिए CISF कवर को मंजूरी भी दी है।

बता दें कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (RSS chief Mohan Bhagwat) को पहले से ही सीआइएसएफ की 'जेड प्लस' की वीआईपी सुरक्षा मुहैया कराई गई है साथ ही इस संगठन के भाजपा के साथ तालमेल को देखते हुए यह कोई अचंभे की बात नहीं है। 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश