Jansandesh online hindi news

तीसरी वर्षगांठ पर जानिए, 370 हटने के बाद कितना बदला जम्मू-कश्मीर

 | 
Image

डेस्क। आज ही के दिन तीन साल पहले पांच अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को कानून को निरस्त कर दिया गया था। इस फैसले को भारत की राजनीति में एक बड़े कदम के रूप में देखा जाता है।

जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाए जाने की आज तीसरी वर्षगांठ है जहां जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाए जाने को लेकर काफी सारे तर्कों में आतंकवाद, रोजगार, निवेश, पर्यटन, हिंसा…आदि चीज़े शामिल हैं।  ऐसे में प्रश्न ये नहीं उठता की क्या ये सही था या गलत बल्कि सवाल उठता है कि क्या धारा-370 के हटाए जाने के तीन साल बाद जम्मू-कश्मीर में कुछ बदलाव आया है?

इस कड़ी में सबसे पहले आतंकवाद की बात करें तो जम्मू-कश्मीर से धारा-370 के हटने के बाद भी यहां के लोग आतंकवाद से काफी परेशान हैं।

रोज यहां आतंकी घटना होती रहती है, आए दिन किसी न किसी को निशाना बनाया जाता है कभी कत्ल होते हैं,  कभी पत्थर बाजी, कभी कोई धर्म तो कभी कोई सम्प्रदाय सूली पर चढ़ता हैं। 

आतंकियों के भोग की वस्तु आम आदमी को ही बनना पड़ता है। एक सरकारी आंकड़ों की माने तो जम्मू-कश्मीर से धारा- 370 के हटाएं जाने के बाद से अब तक 459 आतंकवादी, 128 सुरक्षाकर्मी और 118 नागरिक घाटी में मारे जा चुके हैं।

इन 118 नागरिकों में पांच कश्मीरी पंडित और 16 अन्य लोग (हिंदु, सिख) शामिल थे। सरकार ने राज्यसभा में यह भी बताया कि जम्मू-कश्मीर में साल 2018 में जहां 417 आतंकी घटनाएं हुईं, वहीं 2019 में 255, 2020 में 244 और 2021 में ये संख्या घटकर 229 तक ही रह गई थी।

साथ ही कश्मीर जोन पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक, धारा- 370 के हटने के बाद से कश्मीर में 617 आतंकी घटनाएं दर्ज की गई हैं। वहीं इन तीन साल में आतंकी घटनाओं में 174 पुलिस/सुरक्षाबल शहीद भी हुए। 

जम्मू-कश्मीर से 370 हटने के बाद क्या बदलाव आया?

मेट्रोलाइन, बठिंडा-जम्मू-श्रीनगर गैसफाइल लाइन पर काम हुआ।

पर्यटन के लिहाज से सौंदर्यीकरण का काम तेजी से जारी है।

जम्मू और श्रीनगर में दो एम्स और दो कैंसर इंस्टीट्यूट का निर्माण

सात पैरामेडिकल कॉलेज और नर्सिंह होम पर काम चालू

तीन लाख के घरों तक पहुंचाई गई बिजली

PMAY के तहत 18,354 घरों का निर्माण हुआ।

2.5 लाख शौचालयों का बहु निर्माण कराया गया।

9 लाख महिलाओं को मिला गैस कनेक्शन।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।