मुझे बचा लो...श्रद्धा ने फ्रेंड्स को सुनाई थी आप बीती

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

मुझे बचा लो...श्रद्धा ने फ्रेंड्स को सुनाई थी आप बीती

Image


डेस्क। श्रद्धा वाकर (Shraddha Walker) की खौफनाक हत्या मामले में लगातार नए खुलासे हुए हैं। वहीं मृतका के दोस्तों ने यह बताया है कि हत्या से पहले उसके बॉयफ्रेंड आफताब पूनावाला ने कई बार उसके साथ मारपीट भी की थी।
उन्होंने यह बताया कि एक वक्त ऐसा आया था, जब श्रद्धा को आभास हो गया था कि उसकी हत्या हो सकती है और उसने खुद को बचाने के लिए दोस्तों से मदद भी मांगी थी।
श्रद्धा के दोस्त लक्ष्मण नादर ने इंडिया टुडे से बात करते हुए हुए घटनाक्रमों के बारे में जानकारी दी है साथ ही उन्होंने कहा,'उन लोगों के बीच बहुत मारपीट होती थी और एक बार उसने मुझे वॉट्सऐप पर मैसेज भी किया और कहा कि मैं उसे उसके घर से बचा कर ले जाऊंगा।
उसने यह भी कहा था कि 'अगर मैं उसके (पूनावाला) साथ आज रुकूंगी तो वो मुझे मार देगा' साथ ही हम लोग उस दिन उसे उसके घर से बचा कर लाए थे पर हमने आफताब को चेतावनी भी दी थी कि हम पुलिस में उसकी शिकायत करेंगे वहीं श्रद्धा के कहने पर हमने ऐसा नहीं किया था।'
नादर ने ही श्रद्धा के भाई को अगस्त महीने में बताया था कि वो ढाई महीने से भी अधिक समय से दोस्तों के संपर्क में नहीं रही है। वहीं श्रद्धा के भाई ने ये बात अपने पिता को बताई, जिन्होंने मानिकपुर पुलिस थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करवाई थी।
बता दें अगस्त महीने से मुझे चिंता होने लगी थी क्योंकि दो महीने से भी ज्यादा समय से श्रद्धा की किसी से बात नहीं हुई थी और उसने मेरे किसी भी मैसेज का जवाब नहीं दिया, और उसका फोन स्विच ऑफ था। इसी के चलते मुझे चिंता भी होने लगी थी वहीं मैं बाकी दोस्तों से उसके बारे में पूछने लगा और फिर उसके भाई को इसकी जानकारी भी दे दी।'
बता दें इस बीच पूनावाला के पड़ोसियों ने यह बताया कि उन्होंने श्रद्धा को 2019 में कई मौकों पर पूनावाला के घर पर जाते हुए देखा था। पूनावाला का एक छोटा भाई भी है और वो श्रद्धा के साथ शिफ्ट होने से पहले अपने माता-पिता के साथ वसई वेस्ट में रह करता था।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश