Jansandesh online hindi news

अर्पिता मुखर्जी के घर से सेक्स टॉय मिलने पर ये एक्ट्रेस बोली, क्या फेल हो गए पार्थ चटर्जी

 | 
Image

 

डेस्क। जब ईडी बंगाली अभिनेत्री अर्पिता मुखर्जी की चार हाई-एंड कारों की तलाश कर रही है, जो उनके टॉलीगंज की पार्किंग से गायब हैं, जांचकर्ताओं को पता चला है कि अर्पिता मुखर्जी और पार्थ चटर्जी उन कारों के अंदर पार्टियां करते थे, समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूचना दी। 

ईडी के एक अधिकारी ने पीटीआई को यह भी बताया कि ये वाहन मामले से जुड़े हुए हैं क्योंकि उनमें से एक पूर्व मंत्री ने अर्पिता मुखर्जी को उपहार में दी थी, जिनके बारे में माना जाता है कि उन्होंने दूसरों को खरीदने में उनकी मदद भी की थी। 

रिपोर्टों के अनुसार, बंगाल के बर्खास्त मंत्री पार्थ चटर्जी और उनके  करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी, जिनके फ्लैट से शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में कथित तौर पर कुल 52 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं। चूंकि उनका नाम उनके विश्वासपात्र और पश्चिम बंगाल के पूर्व राजनेता पार्थ चटर्जी से जुड़े एक घोटाले से जुड़ा था।  बंगाली अभिनेत्री अर्पिता मुखर्जी ने विवादों में घिर गईं है।

कोलकाता में अपने आलीशान अपार्टमेंट में भारी मात्रा में मुद्रा रखने के विवाद में फंसी अर्पिता मुखर्जी, जो पिछले शुक्रवार को कोलकाता में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद पिछले एक हफ्ते से चर्चा में हैं, ईडी के बाद एक और अपराध का शिकार हो गई हैं।  उसके आवास पर फिर से छापेमारी करने पर करोड़ों के महंगे खिलौने(Sex toys)  मिले।

इस बीच, अर्पिता के घर से सेक्स टॉयज मिलने के बाद, अभिनेत्री श्रीलेखा मित्रा ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर खबर साझा की और लिखा, "अहरे... पार्थबाबू एक इच्छा नहीं कर सकते?  सुनो, उम्र कोई बाधा नहीं है, जाति कोई बाधा नहीं है, सेक्स बार बार #EgiyeBangla।  क्या पार्थ फेल हो गया?  राष्ट्र जानना चाहता है। ” 

बता दें कि अर्पिता मुखर्जी ने संवाददाताओं को बताया कि वह निर्दोष हैं। वहीं ट्विटर हैंडल यूजर्स ने इस ताजा घटनाक्रम के लिए अर्पिता मुखर्जी को ट्रोल करना शुरू कर दिया है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।