विक्रम-एस का लॉन्च टला, जानिए बड़ा कारण

जनसंदेश ऑनलाइन ताजा हिंदी ख़बरें सबसे अलग आपके लिए

  1. Home
  2. राष्ट्रीय

विक्रम-एस का लॉन्च टला, जानिए बड़ा कारण

Image


 

डेस्क। खाराब मौसम के कारण भारत का पहला निजी तौर पर बना रॉकेट विक्रम-एस तय समय पर लॉन्च नहीं होगा। इसका उप-कक्षीय प्रक्षेपण तीन दिनों के लिए स्थगित कर दिया गया है साथ ही अब स्वदेशी रॉकेट विक्रम एक का प्रक्षेपण 18 नवंबर के बाद ही किया जा सकेगा। 
विक्रम एस के प्रक्षेपण को लेकर स्काई रूट एयरोस्पेस के प्रवक्ता ने यह बताया कि, खराब मौसम के पूर्वानुमान के कारण श्रीहरिकोटा से विक्रम-एस रॉकेट प्रक्षेपण के लिए 15 से 19 नवंबर तक एक नयी विंडो जारी की गई है, जिसकी सबसे संभावित तारीख 18 नवंबर को सुबह 11:30 बजे की है।
हैदराबाद स्थित अंतरिक्ष स्टार्टअप स्काई रूट एयरोस्पेस ने  रविवार को यह कहा कि विक्रम-एस के प्रक्षेपण के लिए पहले 15 नवंबर की तारीख तय की गई थी पर खराब मौसम के कारण अब इसका प्रक्षेपण टाल दिया गया है। वहीं स्काई रूट एयरोस्पेस का 'प्रारम्भ' नामक पहला मिशन दो भारतीय और एक विदेशी ग्राहकों के अंतरिक्ष उपकरण (पेलोड) को लकर जाएगा और श्रीहरिकोटा में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रक्षेपण स्थल से प्रक्षेपण को तैयार भी किया गया है।
इस मिशन को स्काईरूट के लिए एक महत्वपूर्ण मिशन माना जा रहा है, क्योंकि यह उन 80 प्रतिशत तकनीकों को मान्यता दिलाने में मदद भी करेगा, जिनका उपयोग विक्रम-1 कक्षीय वाहन में किया जाएगा, वहीं जिसे अगले साल प्रक्षेपित करने की योजना भी है। स्काई रूट के एक प्रवक्ता ने यह भी कहा है, "जिस प्रमुख क्षेत्र की हम बारीकी से निगरानी करेंगे, वह हमारे ठोस ईंधन वाले रॉकेट इंजन 'कलाम -1' का प्रदर्शन होगा। 
जानकारी के लिए बता दें चेन्नई स्थित एयरोस्पेस स्टार्टअप 'स्पेसकिड्ज' भारत, अमेरिका, सिंगापुर और इंडोनेशिया के छात्रों द्वारा विकसित 2.5 किलोग्राम पेलोड 'फन-सैट' को प्रक्षेपित करेगा। वहीं इस मिशन के साथ स्काई रूट अंतरिक्ष में रॉकेट प्रक्षेपित करने वाली भारत की पहली निजी अंतरिक्ष कंपनी बनने को तैयार भी है। वहीं इससे अंतरिक्ष क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत होगी जो निजी क्षेत्र की भागीदारी को सुविधाजनक बनाने के लिए इसे 2020 में खोला भी गया था।  स्काई रूट के प्रक्षेपण वाहनों को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के संस्थापक और प्रसिद्ध वैज्ञानिक विक्रम साराभाई को श्रद्धांजलि के तौर पर 'विक्रम' नाम से नवाजा भी गया है।
Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

और पढ़ें -

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश