Jansandesh online hindi news

अब्दुल्ला ने इस्‍लाम धर्म छोड़ अपनाया सनातन धर्म पहनी जनेऊ, नया नाम उमेश राय

15 सालों के बाद उन्होंने हिन्दू धर्म में ‘घर वापसी’ की है। एक शख्स के संपर्क में आकर मुस्लिम बनने वाले उमेश राय को बाद में एहसास हुआ कि मुस्लिम समुुदाय के लोग उसे अपना नहीं मानते। इसके बाद उन्होंने पुनः हिंदू धर्म में लौटने का फैसला लिया। बताया जा रहा है कि अब्दुल्ला का गाँव के ही मोहम्मद रियाज से झगड़ा चल रहा था। इसको लेकर बुलाई गई पंचायत में आरोपित के बजाए खुद (अब्दुल्ला) को दोषी ठहराने और अपने खिलाफ फैसला सुनाए जाने से वे आहत थे।

 | 
अब्दुल्ला ने इस्‍लाम धर्म छोड़ अपनाया सनातन धर्म पहनी जनेऊ, नया नाम उमेश राय

पटना: अब्दुल्ला ने 15 सालों के बाद उन्होंने हिन्दू धर्म में ‘घर वापसी’ की है। बिहार के समस्तीपुर के मोहम्मद अब्दुल्ला वापस उमेश राय बन गए हैं। एक शख्स के संपर्क में आकर मुस्लिम बनने वाले उमेश राय को बाद में एहसास हुआ कि मुस्लिम समुुदाय के लोग उसे अपना नहीं मानते। इसके बाद उन्होंने पुनः हिंदू धर्म में लौटने का फैसला लिया। बताया जा रहा है कि अब्दुल्ला का गाँव के ही मोहम्मद रियाज से झगड़ा चल रहा था। इसको लेकर बुलाई गई पंचायत में आरोपित के बजाए खुद (अब्दुल्ला) को दोषी ठहराने और अपने खिलाफ फैसला सुनाए जाने से वे आहत थे।

हिंदू से इस्‍लाम फिर मुसलमान से हिंदू बनने की कहानी

इसके कारण उन्होंने वापस हिंदू धर्म अपनाने का फैसला लिया है। मामला समस्तीपुर के ताजपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले भैरव खरा गाँव का है। शनिवार (25 दिसंबर 2021) को गाँव के काली मंदिर में हिंदू पुत्र संगठन द्वारा घर वापसी कार्यक्रम आयोजित किया गया था।  सबसे पहले मोहम्मद अब्दुल्ला ने मुंडन करवाया। इसके बाद स्नान कर हिंदू रीति-रिवाज के मुताबिक, पाग और जनेऊ धारण करवाकर उनकी घर वापसी करवाई गई। जानकारी के अनुसार, मोहम्मद अब्दुल्ला से उमेश बने शख्स के साथ उसके पड़ोस में रहने वाले मोहम्मद रियाज ने मारपीट की थी और उसकी हत्या की कोशिश भी की थी।

नेहिंदू से इस्‍लाम फिर मुसलमान से हिंदू बनने की कहानी

इसको लेकर गाँव में मुस्लिम समुदाय से संबंधित लोगों के द्वारा पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत ने आरोपित की जगह धर्म परिवर्तन करने वाले मोहम्मद अब्दुल्ला (अब उमेश) को दोषी करार देते हुए उसके खिलाफ फैसला दिया। पंचायत के फैसले से आहत होकर उसने धर्म बदलने का निर्णय लिया। उन्होंने 15 वर्षों बाद पुनः हिंदू धर्म स्वीकार किया और अब्दुल्ला से उमेश बन गए।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।