Jansandesh online hindi news

जुमे की नमाज़ के बाद मुस्लिमों की भीड़ नें हिंदुओं के काली मंदिर पर कर दिया हमला, मंदिर-मूर्ति क्षतिग्रस्त

मुस्लिमों की भीड़ नें हिंदुओं के कैलाशहर स्थित काली मंदिर में हमला कर दिया। ये घटना उन अफवाहों के बाद हुई जिसमें कहा जा रहा था कि सूबे में हिंदुओं ने एक मस्जिद को आग लगा दी है। रिपोर्ट्स के अनुसार, मुस्लिम भीड़ ने काली मंदिर पर दोपहर 4 बजे धावा बोला। उन्होंने वहाँ माँ की प्रतिमा तोड़ दी और मंदिर को क्षतिग्रस्त किया। 
 | 
जुमे की नमाज़ के बाद मुस्लिमों की भीड़ नें हिंदुओं के काली मंदिर पर कर दिया हमला, मंदिर-मूर्ति क्षतिग्रस्त

अगरतला: त्रिपुरा के उनाकोटि जिले में शुक्रवार (29 अक्टूबर) को मुस्लिमों की भीड़ नें हिंदुओं के कैलाशहर स्थित काली मंदिर में हमला कर दिया। ये घटना उन अफवाहों के बाद हुई जिसमें कहा जा रहा था कि सूबे में हिंदुओं ने एक मस्जिद को आग लगा दी है। रिपोर्ट्स के अनुसार, मुस्लिम भीड़ ने काली मंदिर पर दोपहर 4 बजे धावा बोला। उन्होंने वहाँ माँ की प्रतिमा तोड़ दी और मंदिर को क्षतिग्रस्त किया। 


इसके अलावा एक अन्य मामला भी सामने आया, जिसमे ABVP कार्यकर्ता शिबाजी सेनगुप्ता पर NSUI और तृणमूल छात्र परिषद के लोगों ने हमला किया। इस घटना में ABVP कार्यकर्ता को बहुत चोटें आई, किन्तु उनकी हालत अब स्थिर है। खबरों के अनुसार, इलाके में कई बार शांति बहाल की अपील की गई थी, किन्तु त्रिपुरा की लगभग 1100 मस्जिदों में जुमे की नमाज के बाद समुदाय के लोगों को भड़काया गया और फिर इलाके में स्थिति और बदतर हो गई।

प्रशासन ने हालात नियंत्रित करने के लिए इलाके में धारा 144 लागू कर दी है। अब 5 लोगों के एक जगह इकट्ठा होने पर रोक है। 31 अक्टूबर तक यह प्रतिबंध लागू रहेगा। उनाकोटि पुलिस ने बताया है कि, '2 अलग-अलग घटनाओं में शांति भंग करने पर लक्ष्मीपुर और कैलाशहर में धारा 144 लगाई गई है। कल अज्ञात बदमाशों ने लक्ष्मीपुर में काली मंदिर में तोड़फोड़ मचाई, और कैलाशहर में NSUI और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा ABVP नेता पर हमला किया गया।'


 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।