Jansandesh online hindi news

मां वैष्णो देवी के दरबार में भगदड़ मचने से बड़ा हादसा, 13 की मौत, हादसे की दर्दनाक Photo Video ! 

जम्मू-कश्मीर स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ के चलते 12 श्रद्धालुओं की मौत हो गई जबकि 13 घायल हैं। घायलों को माता वैष्णो देवी नारायणा सुपरस्पेशलियटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां कई की हालत गंभीर बताई जा रही है। रात करीब पौने तीन बजे जब माता के दर्शन के लिए दरबार पर लाइन लगी थी, तभी वहां कुछ युवकों की आपस में झड़प हो गई। इसके चलते धक्कामुक्की बढ़ गई और देखते ही देखते वहां भगदड़ मच गई।

 | 
मां वैष्णो देवी के दरबार में भगदड़ मचने से बड़ा हादसा, 13 की मौत, हादसे की दर्दनाक तस्वीरें

नए साल के मौके पर जम्मू के वैष्णो देवी माता के मंदिर से बुरी खबर आई है. यहां भारी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचे थे और इस दौरान माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ मच गई. इस हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है. मौके पर चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया है. घायलों को इलाज के लिए हॉस्पिटल में एडमिट किया गया.

जानकारी के मुताबिक, यह भगदड़ शनिवार तड़के करीब 2.45 बजे हुई. जब नए साल पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु बिना अनुमति पर्ची के माता वैष्णो देवी भवन में प्रवेश कर गए थे. हादसे के बाद यात्रा को कुछ देर के लिए बंद कर दिया गया था.


प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष की तरफ से मरने वालों के परिजनों को 2 लाख रुपये देने का ऐलान किया गया है. वहीं जम्मू-कश्मीर एलजी की तरफ से इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार वालों को 10 लाख रुपये देने की घोषणा की गई है.

माता वैष्णो देवी भवन में हुए हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. जम्मू-कश्मीर एलजी के कार्यालय के आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया गया, 'गृह मंत्री अमित शाह से बात की. उन्हें घटना की जानकारी दी. आज की भगदड़ की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं. जांच कमेटी की अध्यक्षता प्रधान सचिव (गृह) करेंगे, जिसमें एडीजीपी, जम्मू और मंडलायुक्त, जम्मू सदस्य होंगे.'

Image

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।