Jansandesh online hindi news

Crime  News : समलैंगिक को  लिंग बदलवाने को घरवालों ने जब पैसे नहीं दिए तो मम्मी-पापा, बहन और नानी को मार डाला

रोहतक। हरियाणा के रोहतक में सामने आए विजय नगर चौहरे हत्याकांड में आरोपी कातिल अभिषेक ने ही अपने परिवार के 4 लोगों की हत्या की थी. पुलिस की थ्योरी के मुताबिक अभिषेक समलैंगिक है और लिंग परिवर्तन कराने के लिए पिता से पैसों की मांग कर रहा था. हालांकि घरवालों ने जब पैसे नहीं दिए तो उसने मम्मी-पापा, बहन और नानी को मार डाला.
 | 
Crime  News : समलैंगिक को  लिंग बदलवाने को घरवालों ने जब पैसे नहीं दिए तो मम्मी-पापा, बहन और नानी को मार डाला

रोहतक।अभिषेक लिंग परिवर्तन कराना चाहता था, इसके लिए उसने पिता से पैसे मांगे थे. इस पर पिता ने अभिषेक को जमकर डांटा था और साथ ही उसे रुपये भी देने से मना कर दिया था. पिता से रुपये नहीं मिलने के कारण अभिषेक 20 दिनों से परेशान चल रहा था. इसी दौरान अभिषेक और कार्तिक मिले थे और एक साथ शहर एक होटल में दो दिन तक ठहरे भी थे. इसी के ठीक बाद अभिषेक ने इस वारदात को अंजाम दिया था. हरियाणा के रोहतक में सामने आए विजय नगर चौहरे हत्याकांड में आरोपी कातिल अभिषेक ने ही अपने परिवार के 4 लोगों की हत्या की थी.

पुलिस की थ्योरी के मुताबिक अभिषेक समलैंगिक है और लिंग परिवर्तन कराने के लिए पिता से पैसों की मांग कर रहा था. हालांकि घरवालों ने जब पैसे नहीं दिए तो उसने मम्मी-पापा, बहन और नानी को मार डाला. फिलहाल पुलिस ये जांच कर रही है कि अभिषेक का समलैंगिक पार्टनर कार्तिक इन हत्याकांड में शामिल है या नहीं. हालांकि अभिषेक ने दावा किया है कि उसने अकेले ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है. आज अभिषेक को अदालत में पेश किया जाएगा.

पुलिस को छानबीन में पता चला है कि हत्या की वारदात को अंजाम देने के लिए अभिषेक ने घर में रखे अपने पिता के 32 बोर के अवैध रिवाल्वर का उपयोग किया था. पुलिस ने जांच में अवैध रिवाल्वर, आरोपी के कपड़े, जेवर व मोबाइल फोन जब्त कर लिया है. पुलिस की जांच पूरी हो गई है. पुलिस के मुताबिक वारदात के बाद आरोपी अभिषेक ने अपने पिता का सोने का कड़ा और मां का मंगलसूत्र निकाल लिया था, ताकि वारदात को लूट का रूप दिया जा सके. जल्दबाजी में आरोपी ने घर के दरवाजे बंद कर दिए और चाबी अपने साथ ले गया.

पुलिस को इसी बात से शक हुआ कि आखिर कोई भी व्यक्ति वारदात के बाद दरवाजा बंद कर चाबी लेकर क्यों जाएगा. अभिषेक की सच हिस्ट्री से पता चला है कि हत्या से पहले उसने ऑनलाइन वीडियोज भी देखे थे कि किस तरह हत्या की जा सकती है. अब साइंटिफिक सुबूतों पर केस टिका हुआ है, क्योंकि पुलिस के पास हत्याकांड का कोई चश्मदीद गवाह नहीं है. मुख्य तौर पर आरोपी अभिषेक का कुबूलनामा है, अगर वह अदालत में मुकर गया तो पुलिस को कहानी साबित करने में काफी दिक्कत आएगी. मुख्य सबूतों में जिस रिवाल्वर से वारदात की गई, उस पर आरोपी के फिंगर प्रिंट, फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, कॉल डिटेल से लेकर सीसीटीवी फुटेज शामिल हैं.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।