Jansandesh online hindi news

India First Grain ATM in Haryana : देश का पहला अनाज ATM हरियाणा में लगा, जानिये कैसे काम करती है ये मशीन 

आपने एटीएम से अनाज निकलता हुआ देखा है? नहीं ना, चलिए हम आपको दिखाते है एक ऐसी एटीएम मशीन जिससे पैसे नहीं बल्कि अनाज निकलता है। देखा, अगूंठा लगाते ही निकला ना इस एटीएम मशीन से गेहूं। मशीन देखकर चौंक गए ना आप कि आखिर इस मशीन से पैसे की जगह गेहूं क्यूं निकल रहा है। चौंकिए नहीं, हम आपको बताते है ये मशीन क्या है और इसे यहां क्यूं और किसने लगाया है।
 | 
India First Hrain ATM in Haryana

क्या कभी आपने एटीएम से अनाज निकलता हुआ देखा है? नहीं ना, चलिए हम आपको दिखाते है एक ऐसी एटीएम मशीन जिससे पैसे नहीं बल्कि अनाज निकलता है। देखा, अगूंठा लगाते ही निकला ना इस एटीएम मशीन से गेहूं। मशीन देखकर चौंक गए ना आप कि आखिर इस मशीन से पैसे की जगह गेहूं क्यूं निकल रहा है। चौंकिए नहीं, हम आपको बताते है ये मशीन क्या है और इसे यहां क्यूं और किसने लगाया है।

अब सरकारी राशन डिपुओ के आगे अनाज लेने के लिए उपभोक्ताओं को न तो लंबी लाईनों में लगना होगा और न ही राशन कम मिलने की शिकायत का कोई मौका रहेगा। दरअसल, हरियाणा सरकार अब प्रदेश के उपभोक्ताओं के लिए ग्रेन एटीएम स्थापित करने की योजना पर काम कर रही है।

जी हां, जिसे आप एटीएम मशीन समझ रहे थे, वो यही ग्रेन एटीएम मशीन है, जो कि देश की पहली ग्रेन एटीएम मशीन है। यह मशीन गुरूग्राम जिले के फर्रुखनगर में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू हो गई है। 

इस ग्रेन एटीएम मशीन के बारे में हरियाणा में खाद्य एवं आपार्ति विभाग का प्रभार संभाल रहे उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का कहना है कि ग्रेन एटीएम लगने से सरकारी दुकानों से राशन लेने वालों के समय और उनको अनाज का पूरा माप न मिलने जैसी तमाम शिकायतें दूर हो जाएगी। 

उन्होंने कहा कि इस मशीन लगाने का मकसद “राइट क्वॉवन्टटि टू राइट बेनिफिशरी” है। इससे न केवल उपभोक्ताओं को फायदा मिलेगा बल्कि सरकारी डिपुओं पर अनाज घटने का झंझट भी खत्म होगा और सार्वजनिक अनाज वितरण प्रणाली में पहले से अधिक पारदर्शिता आएगी।

डिप्टी सीएम ने कहा कि ये मशीनें न केवल सरकारी डिपो संचालकों को अनाज वितरण में सहायक साबित होगी बल्कि इससे डिपो संचालकों का समय भी बचेगा। उन्होंने कहा कि गुरूग्राम जिले के फर्रुखनगर में यह पायलट प्रोजेक्ट सफल होने के बाद इन अन्न आपूर्ति मशीनों को प्रदेशभर में सरकारी डिपुओं पर लगाने की योजना है।

ऐसे करती है काम ये मशीन 

 यह एक स्वचालित मशीन है 
 मशीन पर लगी है टच स्क्रीन 
 मशीन के साथ एक बायोमेट्रिक मशीन भी है 
लाभार्थियों को सिर्फ आधार/राशन कार्ड का नंबर डालना होगा
प्रक्रिया पूरी होने के बाद मशीन के नीचे लगे बैग में भर जाएगा अनाज
मशीन के माध्यम से तीन तरह के अनाज निकलते है
गेहूं, चावल और बाजरा का वितरण होगा
फर्रुखनगर की ग्रेन एटीएम मशीन से फिलहाल गेहूं का वितरण शुरू